उत्तराखंड

पानी को तरसते ग्रामीण, ग्रामीणों के पानी पर होटल व्यवसाईयों का कब्जा

पौड़ी 11 दिसंबर। एक ओर तो राज्य सरकार 01 रुपये में पानी का कनेक्शन देकर हर घर में पानी पहुचाने की बात कर रही है। वही मुख्यमंत्री के ग्रह जनपद पौड़ी गढ़वाल के ज़हरीखाल विकासखण्ड के 5 गांवों (असनखेत, घँगलीखाल, सन्दना, जाख मल्ला, सिसलडी) के लोग पानी के लिए तरस रहे हैं। लोगो का कहना है कि होटल व्यवसाई उनके रिजर्व टैंक में मोटर लगाकर पानी खींच लेते हैं। जिस कारण गांव में पानी नही आता है।
लैंसडाउन टू रिखणीखाल मार्ग पर टाइगर रिजॉर्ट सहित 3 होटल भैसोड़ा से आ रही लाइन के रिजर्व टैंक में मोटर लगाकर पानी खींच लेते हैं। आपको बता दें कि पहाड़ो में बोरिंग की परमिशन नही है। लेकिन टाइगर रिजॉर्ट के मालिक ने सड़क पर बोरिंग की हुई है और वह अन्य होटलों को भी पानी बेचता हैं। जिसमें विभाग व प्रशासन की भी मिलीभगत होने की आशंका जताई जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सिसलडी में किसी स्थानीय नेता के घरेलू कनेक्शन से भी दो होटलों को पानी की सप्लाई दी जा रही है और ग्रामीण पानी की बूंद बूंद के लिए तरस रहे हैं।
वहीं स्थानीय बुजुर्ग महिला अमरा देवी का कहना है कि होटल वालो की वजह से उनके गांव में पानी का संकट बना हुआ है। आखिर हम बुजुर्ग कहां से पानी की व्यवस्था करें। सरकार को उनके बारे में भी सोचना चाहिए। अरविंद नेगी का कहना है कि गांव का रिजर्व टैंक एक हप्ते से सूखा पड़ा है। सारा पानी होटल वाले चूस रहे हैं और ग्रामीण परेशान हैं। नेगी ने कहा कि पूर्व में बनी पानी की योजना को जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीणों को न देकर होटल व्यवसाहियों को दे दिया है। वहीं पानी के संकट में स्थानीय गाड़ी मालिक सर्वेश्वर प्रसाद अपनी गाड़ी से निस्वार्थ लोगो की प्यास बुझाने की कोशिश कर रहे हैं।

Related Articles

Close