शहर में खास

अधिक सैनेटाइज होने की वजह से नहीं बांटा गया लॉकडाउन में एकत्रित किया गया राशन : विनोद कुकरेती

ऋषिकेश, 05 जनवरी। कोरोना संकट काल में राशन के अधिक सैनिटाइज होने की वजह से राशन को एक गोदाम में छोड़ दिया था। जोकि मंडी समिति के कर्मचारियों की ओर से निजी स्तर पर एकत्रित किया गया था।
बीते सोमवार को आज का आदित्य न्यूज़ पोर्टल में राशन के बर्बाद होने की खबर प्रसारित होने के बाद मंडी समिति के अध्यक्ष विनोद कुकरेती ने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि कोरोना संकट के दौरान मंडी समिति के कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए थे। जिसमें कि वह स्वयं भी शामिल थे। जिसके चलते एहतियातन मंडी परिसर को लगातार सैनेटाइज किया जा रहा था। जिसमें मंडी समिति के कर्मचारियों की ओर से निजी स्तर पर एकत्रित किए गए राशन को भी सैनेटाइज किया गया। जिसमें से तकरीबन 80% राशन वितरित किया जा चुका था। बाकी बचे 20 से 25 बैगों को सैनेटाइज किया गया था। सैनिटाइजेशन के दौरान राशन में अधिक सोडियम थायराइड पहुंचने के कारण राशन को गोदामों में छोड़ दिया गया था। जोकि किसी भी व्यक्ति या पशु को देना जानलेवा साबित हो सकता था। जिसके चलते इस राशन को गोदामों में बंद कर दिया गया था जो कि पहले सही खराब अवस्था में था।

Related Articles

Close