स्वास्थ्य

*हिमालयन हॉस्पिटल में 64 हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर कोविड टीकाकरण*

*-हाउस कीपिंग स्टाफ ललित थापा को लगा पहला टीका*

 

*-हॉस्पिटल में टीकाकरण के सफल बनाने को 10 बूथ बनाए गए*

डोईवाला, 16 जनवरी । हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट में कोविड टीकाककरण के महाभियान के तहत पहले दिन 64 हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर के टीके लगाए गए। टीकाकरण के बाद सभी में उत्साह दिखा। सभी ने लोगों से टीके को सुरक्षित बताते हुए टीकाकरण में सहयोग की अपील की।

शनिवार को प्रधानमंत्री  के द्वारा कोविड के राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के उद्घाटन के बाद हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट में टीकाकरण शुरू किया गया। कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन एक सुरक्षा चक्र है। डॉ.धस्माना ने अपील करत हुए कहा कि टीकाकरण के बाद भी लोग कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दिशा-निर्देशों का पूर्ण रुप से पालन करें।

हिमालयन हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.एसएल जेठानी व नोडल ऑफिसर डॉ.संजॉय दास के नेतृत्व में टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए एक टीम गठित गई। हॉस्पिटल में इसके लिए 10 बूथ बनाए गए। प्रत्येक बूथ में प्रवेश प्रक्रिया के बाद वेटिंग रुम, वैक्सीनेशन रुम और अंत में ऑब्जरवेशन रुम की व्यवस्था की गई। हाउस कीपिंग स्टाफ ललित थापा को पहला टीका लगाया गया। इसी कड़ी में 64 हेल्थ वर्कर का वैक्सीनेशन किया गया। इस दौरान डिप्टी सीएमओ डॉ.संजीव दत्त, एसडीएम डोईवाला लक्ष्मीराज चौहान आदि मौजूद रहे।

*👍👉वैक्सीनेशन को सफल बनाने वाली टीम-* डॉ.आकाश रावत, डॉ.अंकुर विवेक, वैक्सीनेटर नर्सिंग इंजार्ज बलवीर सिंह, तुलिका पंत, इंदु नेगी, वीके उनियाल, अंकित वर्मा, अर्जुन सिंह

*👉👍टीकाकरण के बाद हेल्थ वर्कर की प्रतिक्रिया*

*👍👉डॉ.वरुणा जेठानी, हिमालयन हॉस्पिटल-* यह बहुत गर्व की बात है कोविड बीमारी से निजात पाने के लिए विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान की शुरुआत भारत से हुई है। मैं लोगों से अपील करूंगी की वह टीकाकरण अवश्य कराएं। जिससे आप सुरक्षित रहेंगे और किसी तरह की भ्रामक जानकारी न फैलाएं। उन्होंने टीकाकरण होने के पश्चात भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन अवश्य करें।

👉👍*विपिन, नर्सिंग स्टाफ, हिमालयन हॉस्पिटल-* वैक्सीन लगने से पूर्व मेरे मन में थोड़ा संदेह था लेकिन वैक्सीन लगने के बाद मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्यकर्मी होने के नाते वह दिन-रात मरीजों के बीच रहते है। कोराना संक्रमण काल के दौरान भी एहतियात बरतते हुए वह पूरे मनोयोग से मरीजों की सेवा में तत्पर थे। अब कोराना टीकाकरण होने से वह और ज्यादा अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रहे है।

*👉👍इन्द्र सैनी, नर्सिंग स्टाफ, हिमालयन हॉस्पिटल-* कोरोना वैक्सीन लगाकर उन्हें काफी अच्छा लगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि अपना नम्बर आने पर वह इस वैक्सीन को जरूर लगाये। उन्होंने बताया वैक्सीन को लेकर उनके मन में किसी प्रकार का भय नहीं था।

*👉👍ललित थापा, हाउस कीपिंग स्टाफ-* मैंने कोरोना वॉर्ड में भी ड्यूटी की थी। ड्यूटी के दौरान मरीजों की सेवा ही प्राथमिक उद्देश्य था। हॉस्पिटल के द्वारा उपलब्ध पीपीई किट व जरूरी सामानों की बदौलत कोरोना संक्रमण का डर कभी नहीं रहा। कोरोना वैक्सीन आने से अपने और समाज के लिए खुशी महसूस हो रही है।

Related Articles

Close