शहर में खास

*आध्यात्मिक गुरु, बेमिसाल कवि एवं महान योद्धा थे गुरू गोविंद सिंह जी महाराज-अनिता ममगाई*

 

*गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट ने गुरु गोविंद सिंह जी के प्रकाश उत्सव के पावन मौके पर महापौर का किया अभिनंदन*

ऋषिकेश,20 जनवरी। गुरु गोबिंद सिंह महाराज का प्रकाश उत्सव पर्व तीर्थ नगरी के सभी गुरूद्वारों में बेहद श्रद्धाभाव से मनाया गया। कीर्तन में रागी जत्थों ने गुरमत विचारों और गुरुबाणी पाठ से संगत को निहाल किया। इसके साथ ही बड़ी संख्या में लोगों ने अटूट लंगर में प्रसाद ग्रहण किया।
नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने लक्ष्मण झूला मार्ग स्थित गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब में शहर की खुशहाली के लिए अरदास कराई। इस दौरान गुरुद्वारा प्रबंध समिति की ओर से महापौर का अभिनंदन भी किया गया
बुधवार को गुरूद्वारा श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट के तत्वावधान में गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का पावन प्रकाश उत्सव पूर्वक मनाया गया इस दौरान रागी जत्थों ने अमृतवाणी में शब्द कीर्तन प्रस्तुत कर संगत को निहाल कर दिया।उन्होंने गुरु गोविंद सिंह के इतिहास पर प्रकाश भी डाला। इसके पश्चात अटूट लंगर शुरू हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। इससे पूर्व गुरुद्वारे पहुंची महापौर अनिता ममगाई ने शहर की खुशहाली के लिए मत्था टेक अरदास कराई ।इस मौके पर उन्होंने कहा कि श्री गुरु गोबिंद सिंह जी न सिर्फ आध्यात्मिक गुरु बल्कि बेमिसाल कवि व समर्पित भगत भी थे। वह महान योद्धा भी थे, जिन्होंने गरीबों की रक्षा के लिए अपना परिवार कुर्बान कर दिया। उनकी धर्म के प्रति बेमिसाल कुर्बानियां कभी भुलाई नहीं जा सकती है। सभी को उनके बताए हुए मार्ग पर चलना चाहिए।महापौर ने उनके जीवन पथ से उनके आदर्श ,सिद्धांतों और मातृभूमि की रक्षा के लिए सर्वस्व समर्पण करने की
भावना को आत्मसात कर देश और समाज की रक्षा और विकास के लिए सदैव तत्पर रहने का आह्वान भी किया।इस दौरान गुरुद्वारे के प्रबंधक , सरदार नरेंद्र जीत सिंह बिन्द्रा, मैनेजर दर्शन सिंह, सरदार गोविंद सिंह, इंद्र पाल सिंह,हिम्मत सिंह , मंगा सिंह,  बूटा सिंह, त्रिलोक ककड़,  अजीत गोल्डी, सुजीत यादव आदि प्रमुख रूप से मोजूद रहे।

Related Articles

Close