उत्तराखंड

भाजपा से नाता तोड़ आम आदमी बने रविंद्र जुगरान

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी से 23 वर्षों का नाता तोड़ कर रविंद्र जुगरान ने अपने साथियों के साथ आज आम आदमी पार्टी की सदस्यता ले ली। रविंद्र जुगरान का कहना है कि जनहित में लड़ने के लिए अब उनको एक बेहतर प्लेटफार्म मिल गया है। अब प्रदेश के शहीदों के सपनों को साकार करने का अवसर उनके पास है।
आज सुभाष रोड स्थित एक वैडिंग प्वाइंट में रविंद्र जुगरान ने आम आदमी पार्टी प्रभारी दिनेश मोहनिया के समक्ष पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान रवींद्र जुगरान ने कहा कि राज्य बनने के बाद इन 20 वर्षों में उन्हें भाजपा छोड़ कर दूसरे दल में आना पड़ रहा है तो इसका मतलब उनके दिल में कुछ तो टीस रही होगी। कहा कि वे तो भाजपा के सिपाही थे तब भी उन्होंने सरकार को भी और विपक्ष को भी तारे दिखा दिए। अब उनको जनता की लड़ाई लड़ने का एक बेहतद प्लेटफार्म मिल गया है। इन 20 वर्षों में उत्तराखण्ड में सरकारों ने क्या काम किया। यहां की जनता रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पानी, बिजली चाहती है। राज्य में अब तक रही सरकारों ने यहां तक कि प्रचण्ड बहुमत से सत्ता में आई सरकार ने भी जनहित में कोई कदम नहीं उठाया। छोटी बातों को नजरअंदाज कर सकते हैं लेकिन अगर दिनदहाड़े डकैती पड़ने लगे तो कैसे देखा जा सकता है। जुगरान ने कहा कि दिल्ली में जो केजरीवाल मॉडल चल रहा है उसे पूरे देश में कोई सरकार नहीं दे पाई। उत्तराखण्ड में तो स्वास्थ्य सुविधाएं ही बेहाल हैं। उत्तराखण्ड में भाजपा की सरकार, केंद्र में भी और उत्तर प्रदेश में भी तब अगर विकास की बाट जोहनी पड़े तो लोगों का गुस्सा तो फूटेगा ही। इसीलिए यहां की जनता को भी तीसरे मजबूत विकल्प की जरूरत है। अगर आम आदमी पार्टी दिल्ली मॉडल को लेकर धीरेकृधीरे जनता के बीच जाएगी तो जूनकृजुलाई तक प्रदेश की जनता आप को स्वीकार करेगी।
जुगरान ने कहा कि वे अब तक अकेले ही सिस्टम से लड़ रहे थे। उनको लोगों का समर्थन भी मिला लेकिन अब आम आदमी पार्टी का एक मजबूत और बेहतर मंच उन्हें मिला है। कहा कि हम किसी से भी टकरा सकते हैं। लड़ाई पूरी लड़ी जाएगी, बीच में नहीं छोड़ेंगे। सिस्टम से पाईकृपाई का हिसाब लेंगे।
इस दौरान आप प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि दलों में शामिल होना आज के समय में भेड़चाल बन गया है। लेकिन आम आदमी पार्टी में आने से पहले लोगों को अपना विजन साफ करना होगा। कहा कि आप जाति धर्म के आधार पर चुनाव नहीं लड़ती। जो विधायक काम न करे उसे दोबारा वोट नहीं देना चाहिए। कहा कि उत्तराखण्ड में जनता का पूर्ण समर्थन मिल रहा है और आप की सरकार बनेगी। सब लोग मिल कर कोशिश करेंगे तो यहां का परिदृश्य ही बदल जाएगा।
इस दौरान उनके साथ समाजसेवी और आईटीआई एक्टिविस्ट प्रदीप दत्ता, यशपाल सिंह चैहान, प्रेम सिंह नेगी, मनोज कुमार पंत, संजय शर्मा, ममता देवी, आशा नौटियाल, मंजू देवी, मुन्नी देवी, सुनील बढ़ोनी, अनिल रावत व अनूप गुलाटी सहित कई लोगों ने पार्टी की सदस्यता ली।

Related Articles

Close