शहर में खास

निर्माण कार्यों की धीमी गति को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने अधिशासी अभियंता को लगाई फटकार

 

ऋषिकेश, 03 फरवरी।ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत रायवाला, प्रतीत नगर सड़क के निर्माण कार्य में धीमी गति को लेकर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को अपने कैंप कार्यालय में बुलाकर नाराजगी व्यक्त करते हुए फटकार लगायी। साथ ही अग्रवाल ने शीघ्र ही रायवाला प्रतीत नगर सड़क निर्माण कार्य को पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने लगभग 5 करोड रुपये की लागत से 5 किलोमीटर रायवाला प्रतीत नगर सड़क निर्माण कार्य की लेटलतीफी पर कहा की विकास कार्यों में अधिकारियों की हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी।विधानसभा अध्यक्ष ने शीघ्र ही सड़क निर्माण कार्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए जिस पर अधिशासी अभियंता विपुल सैनी ने विधानसभा अध्यक्ष को आश्वस्त करते हुए कहा कि 15 मई तक सड़क निर्माण का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने शिव चौक एवं हनुमान चौक पर नालियां बनाकर सड़क को दुरुस्त करने के लिए भी निर्देशित किया।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने केंद्र सरकार की विशेष सहायतित योजना के अंतर्गत ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र में लगभग 13 करोड रुपये की लागत से 70 किलोमीटर सड़कों के नवीनीकरण कार्य को लेकर भी अधिकारी से चर्चा की।अधिशासी अभियंता ने विधानसभा अध्यक्ष को अवगत किया कि इस योजना से रेलवे रोड, देहरादून रोड, श्यामपुर बाईपास, पशुलोक विस्थापित, रायवाला विस्थापित, इंदिरानगर विस्थापित, श्यामपुर गढी, रूषा फार्म, आईडीपीएल, 20 बीघा सहित अन्य मोटर मार्गो का नवीनीकरण का कार्य आज से देहरादून रोड से प्रारंभ किया जा रहा है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने एक करोड़ 40 लाख 38 हजार रुपये की लागत से हरिपुर कला (प्रेम विहार कॉलोनी) में लगभग 3 किलोमीटर की सड़कों के मरम्मत एवं सुधार कार्य एवं एक करोड़ 54 लाख 27 हजार रुपए की लागत से ग्राम सभा श्यामपुर में वार्ड संख्या 5 के अंतर्गत 3.5 किलोमीटर सड़क मार्गों के निर्माण कार्यों की टेंडर प्रक्रिया सम्बंधित प्रगति पर अधिशासी अभियंता से जानकारी ली।जिस पर अधिकारी ने बताया कि टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जल्द ही टेंडर होने के बाद निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिये जाएंगे।

वहीं दूसरी ओर अग्रवाल ने संबंधित अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि निर्माण कार्य में किसी भी प्रकार की अनियमितताएं और लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी एवं एस्टीमेट के अनुरूप निर्धारित मानक व गुणवत्तापूर्ण सामग्रियों का इस्तेमाल हो।

Related Articles

Close