राजनीति

जल-जंगल-जमीन सहित 9 सूत्रीय मांगों को लेकर किशोर ने फिर बुलंद की आवाज


ऋषिकेश 05 फरवरी। कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक किशोर उपाध्याय ने उत्तराखंड वासियों को गिरिजन व अरण्यजन मानते हुए उनके पुश्तैनी वनाधिकार एवं हक-हकूक बहाल की जाने की मांग की है।
शुक्रवार को ऋषिकेश पहुंचे किशोर उपाध्याय ने देहरादून रोड स्थित व्यापार सभा में प्रेस वार्ता आयोजित की। जिसके माध्यम से उन्होंने उत्तराखंड के निवासियों के लिए केंद्र सरकार की सेवाओं में आरक्षण दिए जाने, प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को पक्की सरकारी नौकरी दिए जाने, प्रतिमाह एक गैस सिलेंडर व बिजली-पानी निशुल्क दिये जाने, जड़ी-बूटियों पर स्थानीय समुदाय का अधिकार, शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाएं निशुल्क करने, एक यूनिट आवास बनाने के लिए लकड़ी, बजरी-पत्थर निशुल्क दिए जाने, जंगली जानवरों द्वारा जनहानि होने पर 25 लाख रुपए क्षतिपूर्ति और परिवार के सदस्य को पक्की सरकारी नौकरी दिए जाने, जंगली जानवरों द्वारा फसल के नुकसान पर प्रति नाली 5 हजार रुपए क्षतिपूर्ति राशि व राज्य में अभिलंब चकबंदी किए जाने की मांग की है। इस मौके पर एआईसीसी सदस्य जयेंद्र रमोला, विजयपाल सिंह रावत, विनोद सकलानी, मनोज गुसाईं, दिनेश सकलानी, अरविंद जैन, जगजीत सिंह जग्गी, संतोष प्रणाली आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Close