आपदा

चट्टान से गिरकर दो वन कर्मियों की मौत, मृतक परिवारों को नौकरी और मुआवजे का ऐलान

कोटद्वार। वन प्रभाग पौड़ी की पोखड़ा रेंज में आग बुझाते हुए चट्टान से गिरकर दो वन कर्मियों की मौत हो गई थी। इस घटना पर दुख जताते हुए वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा है कि मृतक परिवारों को सरकार की ओर से हर संभव मदद की जाएगी। आपदा प्रबंधन के तहत परिवारों को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।
दरअसल, बुधवार को पोखड़ा रेंज के अंतर्गत ल्वीठा के पास जंगल में आग लगने की सूचना मिली थी। सूचना पर आग बुझाने के लिए मौके पर करीब चार वन कर्मियों की टीम भेजी गई थी। इस दौरान वन दारोगा दिनेश लाल और वनरक्षक हरिमोहन दो अन्य साथियों के साथ नीचे रास्ते में आग बुझाने गए थे। वापस आते हुए साथियों ने उनकी खोजबीन की तो वे चट्टान से नीचे गिरे हुए मिले। घटना में हरिमोहन की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि दिनेश लाल ने अस्पताल पहुंचते हुए दम तोड़ा।
दोनों वन कर्मियों का कोटद्वार में पोस्टमॉर्टम के बाद मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया। वहीं वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने इस पूरी घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि सरकार की ओर से दोनों वन कर्मियों के परिवारों को हर संभव मदद की जाएगी। उन्हें आर्थिक सहायता के उपरांत नौकरी भी दी जाएगी। हरक सिंह रावत ने कहा कि आपदा प्रबंधन के तहत मृतक परिवारों को चार-चार लाख रुपए धनराशि दी जाएगी।

Related Articles

Close