शहर में खास

विवादित भूमि पर 18 वर्षों से स्वामी नारायण ट्रस्ट का कब्जा, कोर्ट के आदेश पर जस की तस सौंप दूंगा भूमि – स्वामी सुनील भगत

ऋषिकेश, 27 फरवरी। पंचवटी कुटीर न्यास के आरोप पर स्वामी नारायण आश्रम के संचालक स्वामी सुनील भगत ने पलटवार करते हुए कहा कि विवादित भूमि पर पिछले 18 वर्षों से स्वामी नारायण आश्रम ट्रस्ट का कब्जा है। यदि न्यायालय आदेश देता है तो भूमि को जस का तस ही सौंप दूंगा।
शुक्रवार को पंचवटी कुटीर न्यास के महंतों ने स्वामी नारायण ट्रस्ट पर उनकी भूमि पर कब्जा कर अवैध निर्माण करने का आरोप लगाया था। जिसपर शनिवार को पलटवार करते हुए स्वामी नारायण आश्रम के संचालक व व्यवस्थापक स्वामी सुनील भगत ने पलटवार करते हुए कहा कि यदि भूमि ट्रस्ट की नहीं होती तो प्रशासन कार्यवाही करता और यदि मामले में न्यायालय कोई भी निर्णय सुनाता है तो वह सर्वमान्य होगा।  उन्होंने कहा कि उक्त विवादित भूमि पर पिछले 18 वर्षों से स्वामीनारायण आश्रम ट्रस्ट का कब्जा है। 2013 की केदारनाथ आपदा के बाद 2015 में राजस्व विभाग के सर्वे में भी उक्त भूमि स्वामी नारायण ट्रस्ट की बताई गई है। आरोप लगाया कि बीती 25 फरवरी को पंचवटी कुटीर न्यास के महंतों द्वारा उन पर ईंट से जानलेवा हमला किया गया। इसमें उनका पैर टूट गया। जिसके संबंध में उन्होंने पुलिस को लिखित शिकायत भी दर्ज कराई है। बताया कि अपनी इस हरकत को छुपाने के लिए उन्होंने 26 फरवरी को पत्रकार वार्ता आयोजित की। जिसमें उन पर झूठे आरोप लगाए गए हैं।

Related Articles

Close