उत्तराखंडधर्म-कर्म

पौड़ी के सतपुली के मलेठी में ठाकुर सुंदर सिंह चौहान वृद्धाश्रम का माताश्री मंगला ने किया लोकार्पण

नयारघाटी सतपुली में ठाकुर सुंदर सिंह चौहान वृद्धाश्रम का लोकार्पण,वृद्धाश्रम को हर संभव सहयोग प्रदान करेगा हंस फाउंडेशन

 

  पौडी़, 01 मार्च। ( *आज का आदित्य* )    पौड़ी गढ़वाल के विकासखंड एकेश्वर स्थिति मलेठी गांव के लिए सोमवार दिन खास रहा। मौका था पहाड़ के असहाय वृद्धजनों के लिए ठाकुर सुंद सिंह चौहान आश्रम का लोकार्पण। मलेठी में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त इस वृद्धाश्रम का लोकार्पण हंस फाउंडेशन की संस्थापक माता मंगला एवं समाजसेवी ठाकुर सुंदर सिंह चौहान ने किया।
ठाकुर सुंदर सिंह चौहान वृद्धाश्रम का लोकार्पण करते हुए माताश्री मंगला ने इस सेवा कार्य के लिए ठाकुर सुंदर सिंह चौहान और उनके परिवार को सम्मानित करते हुए कहा कि मैं समाजसेवी और नयारघाटी के गरीब और वंचित समुदाय के लोगों के साथ खड़े होकर सेवा का कार्य कर रहे  ठाकुर सुंदर सिंह चौहान  को इस वृद्धाश्रम को खोलने के लिए बहुत-बहुत बधाई देती हूं।
यह बहुत ही पुण्य और सेवा का सशक्त मार्ग हैं,जिसे चौहान ने निर्मित किया है। हमारे बुर्जग हमारे आदर्श हैं,जिनकी सेवा के लिए हम सब को आगे आना चाहिए। आज नयारघाटी में हमारे वृद्धजनों के लिए ठाकुर सुंदर चौहान ने इतना अच्छा प्रयास किया है। इस के लिए हम और भोले जी महाराज  चौहान  को बधाई देते है।  साथ ही हम ठाकुर सुंदर चौहान जी को आश्वस्त करते हैं कि इस वृद्ध आश्रम के लिए हंस फाउंडेशन एवं हंस जनरल अस्पताल सतपुली के माध्यम से जो भी सहयोग चाहिए होगा वह हम प्रदान करेंगे।
माता मंगला ने कार्यक्रम उपस्थित अतिथियों का अभिवादन करते हुए कहा कि प्रकृति की खूबसूरत चादर ओढ़े नयारघाटी के इस वृद्धाश्रम में हमारे वृद्धजनों का जीवन सुख मय हो,उनके चेहरे पर कभी भी यह न दिखे की उनका तिरस्कार किया गया है। वह खुद को कभी असहाय न समझे है,अकेले न समझे,उनके चेहरे की खुशी हमारी खुशी हो,उम्मीद है हम सब मिलकर इस इनके लिए काम करेंगे।
माता मंगला  ने कहा कि आप सब जानते हैं कि यहां से कुछ ही दूरी पर हंस जनरल अस्पताल स्थिति है,जो इस वृद्ध आश्रम के वृद्धजनों के स्वास्थ्य की देखरेख के लिए हर संभव प्रयास करेगा। इस पुण्य कार्य के लिए हर समय हमारा सहयोग रहेगा। हमसे जितना भी सहयोग होगा हम वृद्धाश्रम संचालन में सहयोग करेंगे। साथ ही यदि आश्रम में किसी भी वृद्ध को स्वास्थ्य की जरूरत पड़ी तो सबसे पहले हंस जरनल अस्पताल सतपुली में उन्हें उपचार दिया जाएगा। उन्हें अस्तपताल तक लाने और फिर वृद्धाश्रम में छोड़ने के लिए हम हर संभव सहयोग करने का प्रयास करेंगे। हम ठाकुर सुंदर सिंह चौहान को आश्वत करते हैं कि जिस सेवा के पथ पर आप चल रहे है,उसमें आपको हंस फाउंडेशन का सहयोग निरंतर मिलता रहेगा। उन्होंने सभी लोगों से आग्रह किया है कि वह अपने माता-पिता की देखभाल करें और जिन बुजुर्ग लोगों की देखरेख करने वाला कोई नहीं है उनके लिए यह आश्रम उन्हें सारी सुविधाएं मुहैया कर सकेगा। साथ ही कहा कि इस आश्रम में आने वाले बृद्धजनों के लिए सभी सेवाएं कपडे व अन्य सामग्री सहित स्वास्थ्य सुविधा, तीर्थ यात्रा व सेवा का कार्य हंस परिवार द्वारा किया जायेगा।
माता मंगला  ने लोकार्पण समारोह में उपस्थित लोगों से निवेदन करते हुए कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना महामारी की चपेट में है। अभी भी हालात बहुत बेहतर नहीं है। इस लिए आप सब विशेष तौर में यह ध्यान रखें की कोरोना से बचने के लिए दो गज की दूरी मास्क है जरूरी, के नियम का पालन करें।
हम हंस फाउंडेशन के माध्यम से निरंतर कोरोनाकाला में सेवाएं प्रदान कर रहे है। उत्तराखंड,उत्तरप्रदेश,बिहार,राजस्थान,आंध्रप्रदेश,असम,दार्जिलिंग,कर्नाटक और दिल्ली जैसे कई राज्यों में लगभग 25 लाख गरीब-जरूरतमंद परिवारों तक राशन,मास्क और जरूरत की दूसरी तामम चीजें भिजवाई गईं। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया। सेवा का ये सिलसिला आज भी जारी है। लॉकडाउन के दौरान जब उत्तराखंड प्रवासी वापस लौटने लगे तो हमने प्रवासियों को रहने और खाने की हर जरूरत का इंतजाम किया। प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में आइसोलेशन सेंटर बनवाए। मास्क,हैंड ग्लव्स,फेस शील्ड,सैनिटाइजर,स्वच्छता किट एवं पी पी ई कीट विशेष रूप से प्रदान किए। रूद्रप्रयाग, टिहरी और मसूरी के जिला अस्पतालों को मैडिकल उपकरण सहित एम्बुलेंस,वेटिलेटर प्रदान किए गए। इसी के साथ हंस फाउंडेशन जनरल अस्पताल सतपुली को कोरोना संकट में किसी भी स्थिति में लड़ने के लिए तैयार रखा गया है।
आज भी आप देख रहे होंगे कि इस क्षेत्र में पोखड़ा,चौबट्टखाल,जोगीमणी,सतपुली के ग्रामीणों स्कूली बच्चों और बजारों में निरंतर हंस फाउंडेशन के माध्यम से मास्क वितरित किए जा रहे है। कोरोना कवच बनकर हंस फाउंडेशन द्वारा प्रदान किए गए यह मास्क आज आपके साथ है। यह बहुत खुशी की बात है। इसके लिए हंस परिवार और सभी लोगों का आभार प्रकट करती हूं कि आप सब हमारी सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।
हरिद्वार कुंभ में हंस फाउंडेशन करेगा नेत्र कुंभ का आयोजन
इस मौके पर माताश्री मंगला कहां कि ‘ईश्वर के प्रवेश द्वार’ हरिद्वार में कुंभ का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देश-विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु स्नान करने पहुंच रहे है। उनकी मनोकामनाएं पूरी हों,वह हर संकट से बच कर कोरोना जैसी महारामारी के बीच कुंभ स्नान कर पुण्य कमा के अपने घरों को लौटे। इसके लिए हम कुंभ स्नान आने वाले श्रद्धालुओं और कुंभ में ड्यूटी कर रहे सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मास्क वितरित कर रहे है।
हरिद्वार कुंभ में हम प्रयागराज कुंभ की भांति नेत्र कुंभ का आयोजन कर रहे है। जिसमें निःशुल्क आंखों की जांच की जाएगी और निःशुल्क चश्मों का वितरण किया जाएगा। सेवा भी सम्मान भी के हमारे इस पथ पर आइए और इन सेवाओं का लाभ उठाइए।
इस अवसर पर समाजसेवी सुंदर सिंह चौहान ने लोकापर्ण में उपस्थित सभी प्रबुद्धजनों का भावुकता से स्वागत करते हुए कहां कि हमारे लिए यह बहुत सौभाग्य की बात हैं कि इस आश्रम को हमारे वृद्धजनों को समर्पित करने के लिए पूज्य माता मंगला जी और आप सभी उपस्थित लोगों का आशीष मिला है।
श्री चौहान ने कहां कि निश्चित तौर पर यह बहुत कष्टदायी हैं कि कई बार हमारे समाज में हम उन लोगों को अकेले छोड़ देते है। जिन्होंने हमें उंगली पकड़ कर का चलना सिखाया,हमें जीवन की परिभाषा समझायी। वह भी ऐसे समय में जब इन लोगों को हमारी सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है। लेकिन यह मेरे लिए सौभाग्य की बात हैं कि हम इन लोगों के लिए सेवा के तौर पर यह आश्रम निर्मित कर पाए है। इसमें हमें निरंतर हंस फाउंडेशन का सहयोग मिलता रहा है। इसके लिए हम पूज्य  भोले  महाराज एवं पूज्य माता मंगला का कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते है। 
समाजसेवी सुंदर सिंह चौहान ने कहा कि इस वृद्धआश्रम में हर जरूरतमंद और असहाय वृद्धों के लिए निःशुल्क सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी साथ ही उनके स्वास्थ्य के उपचार के लिए उन्हें सतपुली में बने हंस फाउंडेशन जनरल अस्पताल समय-समय पर ले जाया जाएगा।
इस मौके पर माताश्री मंगला ने कई बृद्धजनों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर राकेश खंतवाल द्वारा ठाकुर सुन्दर सिंह चौहान की पर लिखीत पुस्तक का लोकार्पण भी किया गया। कार्यक्रम में लोक गायक जागर सम्राट पद्मश्री प्रीतम भरतवाण ने अपने प्रस्तुति से दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया।
कार्यक्रम में त्रिलोक चौहान, जितेन्द्र चौहान,सोनी देवी, नीतिका चौहान, नीलम चौहान, मीना लिंगवाल,शक्ति सिंह, चंद्रशेखर भट्ट, राकेश नेगी, राजनितिन सिंह, आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन गणेश खुगशाल ने किया।

Related Articles

Close