उत्तराखंड

पारंपरिक परिधान में रैंप वॉक करेंगी पहाड़ की बेटियां

देहरादून। विश्व भर में 8 मार्च को मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इस बार राजधानी देहरादून में महिलाएं उत्तराखंड के पारंपरिक गढ़वाली-कुमाऊंनी परिधानों में रैंप वॉक करती नजर आएंगी। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इस बार महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिसे श्उत्तराखंडी परिधाण म्यर पछांणश् नाम दिया गया है।उत्तराखंडी परिधाण म्यर पछांण एक राज्यस्तरीय प्रतियोगिता होगी, जिसमें उम्र के आधार पर तीन अलग-अलग श्रेणियों में महिलाएं उत्तराखंड के पारंपरिक परिधानों में रैंप वॉक करती देखी जाएंगी। ऐसे में इस विशेष कार्यक्रम में गढ़वाल और कुमाऊं मंडल की कुल 78 महिलाएं और बेटियां प्रतिभाग करने जा रही हैं। जिसकी सूची महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की ओर से जारी कर दी गई है। इस सूची के अनुसार कार्यक्रम में गढ़वाल मंडल से 42 और कुमाऊं मंडल से 36 बालिकाएं और महिलाएं प्रतिभाग कर रही हैं।  महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्य ने बताया कि उत्तराखंडी परिधाण म्यर पछांण कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली तीनों ही श्रेणियों में युवतियों और महिलाओं को प्रथम द्वितीय और तृतीय स्थान के आधार पर 31000, 21000 और 11000 रुपए की धनराशि से सम्मानित किया जाएगा। उत्तराखंड के पारंपरिक परिधानों को नई पहचान दिलाने के लिए इस तरह का रैंप वॉक कार्यक्रम पहली बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित किया जा रहा है।

Related Articles

Close