स्वास्थ्य

एम्स करेगा महिला दिवस पर “चुप्पी तोड़ो, स्त्रीत्व से नाता जोड़ो” कार्यक्रम का आवाज़,

 

ऋषिकेश, 06 मार्च। ( *आज का आदित्य* ) अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर एम्स ऋषिकेश के रिकंस्ट्रक्टिव और कास्मेटिक गायनेकोलॉजी विभाग की ओर से स्त्री वरदान अभियान मे एक कार्यक्रम किया जा रहा है। जिसका ध्येय वाक्य है “चुप्पी तोड़ो, स्त्रीत्व से नाता जोड़ो”।
स्त्री वरदान कार्यक्रम की शुरुआत 31अक्टूबर 2020 को रिकंस्ट्रक्टिव और कास्मेटिक गायनेकोलॉजी विभाग द्वारा डॉ नवनीत मग्गो के मार्गदर्शन में की गई थी। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य महिलाओं की निजी समस्याओं का निवारण करना है। रिकंस्ट्रक्टिव और कास्मेटिक गायनेकोलॉजी विभाग विश्व में अपनी तरह का पहला ऐसा विभाग है। रिकंस्ट्रक्टिव और कास्मेटिक गायनेकोलॉजी विभाग के अध्यक्ष व स्त्री ब्रदर कार्यक्रम के निदेशक डॉ नवनीत मग्गो ने कहा कि यह कार्यक्रम उन अनुच्चरित महिलाओं को आवाज देगा, जो अपनी निजी स्वास्थ्य समस्याओं को चुपचाप सहती रहती हैं।
कार्यक्रम में देश और उत्तराखंड राज्य के प्रतिषिठत व्यक्ति प्रतिभाग ले रहे होता हैं। जिसमें राज्यपाल बेबी रानी मोर्य, महामंडलेश्वर आचार्य अवधेशानंद गिरी महाराज, स्वामी देवानंद सरस्वती महाराज, स्वामी विजय कौशल महाराज, हंस फाउंडेशन की माता मंगला, राष्ट्रीय महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा आर्य, यमकेश्वर विधायक रितु खण्डूरी, देव संस्कृति विशवविद्यालय के उपकुलपति डॉ चिन्मय पांड्या, दिव्य प्रेम सेवा मिशन के संस्थापक आशीष गौतम शामिल होंगे।

Related Articles

Close