शहर में खास

*स्वच्छ सर्वेक्षण में अव्वल आने का सपना होगा साकार- अनिता ममगाई*

*स्वच्छ सर्वेक्षण में ऋषिकेश ने मारी ऊंची छलांग, शहर घोषित हुआ ओडीएफ प्लस*

 

*जीएफसी में भी दिलाएंगे निगम को स्टार का तमगा-महापौर*

ऋषिकेश, 09 मार्च।  हौसले बुलंद हो और कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।
इसे स्वच्छ सर्वेक्षण में ऊंची छलांग लगाकर सच साबित कर दिखाया है नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने।केन्द्र की स्वच्छता टीम द्वारा ग्राऊंड लेवल पर शहर के शौचालयों के किए गये निरीक्षण के आधार पर ऋषिकेश नगर निगम को ओडीएफ प्लस घोषित किया गया है।इसमें मिले नम्बरों के आधार पर ही स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में निगम की परफॉर्मेंस तय की जानी है।जिसके आधार पर कह सकते हैं कि स्वच्छ सर्वेक्षण में अव्वल आने के लिए नगर निगम ने मजबूत कदम बड़ा दिए हैं।

मंगलवार को  मेयर अनिता ममगाई  ने ये जानकारी देते हुए खुशी जाहिर की है। वहीं उन्होंने कहा कि निगम ने लम्बी छलांग लगाई है, लेकिन आगे कोशिश होगी और बेहतर करने की ताकि ऋषिकेश स्वच्छ सर्वेक्षण में अव्वल आ सके। महापौर ने बताया कि करीब दो वर्ष पूर्व नगर निगम की जब उन्होंने कमान संभाली तो शहर की सफाई व्यवस्था अपने सबसे बुरे दौर में थी जिसकी वजह से नगर का ओडीएफ भी  नगेटिव था।मामला सिर्फ यही तक ही सीमित नही था नगर के तमाम शौचालयों की हालत बहुत ख़राब थी ,उनके बिजली के बिलों के भुगतान मे भी पिछले ५ सालों का बकाया था।आलम यह था कि शौचालयों की मरम्मत करने और नए शौचालय बनाने के लिए निगम के पास बजट का अभाव था ।उन्होंने बताया इसे चेलेंज की तरह स्वीकार कर योजनाएं बनाई गई।मज़बूत पत्राचार और शासन में अच्छी पकड़ के चलते शहर को वित्तीय धनराशि उपलब्ध कराने में वह कामयाब रही।इसी के परिणाम स्वरूप अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त धार्मिक एवं पर्यटन नगरी ऋषिकेश में हाईटेक शौचालय अस्तित्व में आए और पुराने शौचालयों का जीर्णोद्धार शुरू हुआ ।इसी का नतीजा है कि आज ऋषिकेश शहर को ओडीएफ प्लस घोषित कर दिया गया है।महापौर ने बताया कि इस साल 10 हाईटेक शौचालय बनाने का लक्ष्य उन्होंने रखा है ।छह हाईटेक शौचालयों पर 5 स्टार होटल की तर्ज पर निर्माण का कार्य चल रहा है ।चुनावी घोषणा पत्र पर भी जनता से वादा किया था कि शहर को अच्छे शौचालय उपलब्ध कराए जाएंगे ।जिस पर आज मुहर लग गयी है।महापौर के अनुसार स्वच्छता सर्वेक्षण में दो महत्वपूर्ण मानक होते हैं खुले में शौचमुक्त ओडीएफ और कूड़ा मुक्त शहर जीएफ़सी ।इस साल गोविंद नगर से कूड़ा हटाकर शहर को  जीएफसी स्टार का तमग़ा भी दिलाया जायेगा जोकि निश्चित ही एक बड़ी उपलब्धि होगा।

Related Articles

Close