उत्तराखंड

उत्तराखण्ड में रोहिंग्या शरणार्थियों की घुसपैठ की आशंका

ऊधमसिंह नगर। 25 मार्च। रोहिंग्या शरणार्थियों की घुसपैठ की आशंका को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस की खुफिया एजेंसियों ने संदिग्ध स्थानों पर गोपनीय जांच शुरू कर दी है। रुद्रपुर में वर्षों से रह रहे कुछ बांग्लादेशी परिवारों के संपर्क में रोहिंग्या शरणार्थियों के होने के संकेत मिले हैं। हालांकि अभी तक रोहिंग्यों की जिले में होने की ठोस पुष्टि नहीं हो सकी है।
ऊधमसिंह नगर में रोहिंग्या शरणार्थियों की घुसपैठ की आशंका को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस की खुफिया एजेंसियों ने संदिग्ध स्थानों पर गोपनीय जांच शुरू कर दी है। रुद्रपुर में वर्षों से रह रहे कुछ बांग्लादेशी परिवारों के संपर्क में रोहिंग्या शरणार्थियों के होने के संकेत मिले हैं। हालांकि अभी तक रोहिंग्यों की जिले में होने की ठोस पुष्टि नहीं हो सकी है।
यूपी की सीमाओं से लगे ऊधमसिंह नगर जिले में बाहरी संदिग्धों की आवाजाही रहती है। यूपी में कई तरह की सांप्रदायिक और अन्य वारदात के बाद जिले के संदिग्ध स्थानों और पॉश कॉलोनियों को संदिग्ध शरण स्थली बनाते हैं। पुलिस अधिकारियों को गोपनीय सूचना मिली थी कि आगामी होली और 15 अगस्त को रोहिंग्या शरणार्थी कुमाऊं की ओर रुख कर सकते हैं।
ऐसे में बेहद संवेदनशील माने जाने वाले ऊधमसिंह नगर के कुछ लोगों के रोहिंग्या शरणार्थियों के संपर्क में होने की आशंका से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। खासकर मलिन ट्रांजिट कैंप और सीमाओं से सटे इलाकों में रोहिंग्या शरणार्थी पहुंच सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, बांग्लादेश से आने वाले कुछ परिवार इनके संपर्क में बताए जा रहे हैं।
रोहिंग्या के जिले में पहुंचने पर अप्रिय घटनाओं की पटकथा लिखी जा सकती है। पुलिस विभाग रोहिंग्या शरणार्थियों के नाम सामने आने पर सतर्क हो गया था। अधिकारियों ने खुफिया एजेंसियों को शहर की हर गतिविधियों पर नजर रखने और रोहिंग्या से संबंधित कोई भी इनपुट मिलने पर तत्काल इसकी सूचना देने के आदेश दिए हैं। अधिकारियों के आदेश के बाद खुफिया एजेंसियां गोपनीय जांच में जुट गई हैं।

Related Articles

Close