राजनीति

जनता के बीच तेजी से बढ़ रहा है सीएम तीरथ की लोकप्रियता का ग्राफ

 

*दुर्गेश मिश्रा*

देहरादून, 28 मार्च।  जब से उत्तराखण्ड की सत्ता पर तीरथ सिंह रावत की ताजपोशी हुई है। उनकी लोप्रियता का ग्राफ लगातार बढ रहा है। उन्होंने जनहितों को ध्यान में रखते हुए पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र के फैसलों को बदलने में भी गुरेज नही किया। जिससे जनता के बीच उनकी लोप्रियता लगातार बढती ही जा रही है। हांलाकि दोबारा से कोरोना की बढ़ती रफ्तार ने सीएम की मंशा को झटका देने का काम भी किया है।
सीएम तीरथ ने ताजपोशी के साथ ही महाकुंभ को भव्य तरीके से मनाने का निर्णय ले लिया था। जिससे साधू संतो के साथ साथ आमक आदमी के चेहरे भी खिल उठे थे। किन्तु दोबारा से कोरोना की बढ़ती रफ्तार ने इसपर ब्रेक लगा दी। पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र ने चारधाम यात्रा के लिए देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड का गठन किया था। जिसका तीर्थ पुरोहित लगातार विरोध कर रहे थे। सीएम का पद संभालते ही तीरथ सिंह रावत ने इस मामले में भी तीर्थ पुरोहितों की भावना को समझते हुए इस फैसले पर विचार करने का आश्वासन दिया है। जिससे तीर्थ पुरोहित भी खुश नजर आ रहे है। उसके अलावा गैरसैंण में कमीश्नरी के फैसले पर भी जनहितों को ध्यान में रखकर सीएम तीरथ विचार कर रहे है। सीएम तीरथ यह साफ तौर पर कह चुकें है कि वे किसी भी कीमत पर जनहितों की अनदेखी को बर्दाश्त नही करेंगे। वे साफ कर चुके है जिस फैसले से जनता खुश नही है। उसे वह बदलने में गुरेज नही करेंगे। क्योकि उनका उदे्श्य ही जनता के हितों की सुरक्षा है। इसलिए वे जनहितों की सुरक्षा को लगातार प्राथमिकता दे रहे है। जिससे अल्प समय में ही उनकी लोकप्रियता में लगातार इजाफा हो रहा है।

Related Articles

Close