शहर में खास

बाहरी लोगों का हस्तक्षेप दुर्भाग्यपूर्ण नगर उद्योग व्यापार महासंघ की बैठक में अग्रवाल पर लगाए आरोप


ऋषिकेश 30 मार्च। नगर उद्योग व्यापार महासंघ की संचालन समिति की बैठक मंगलवार को हुई।
जिसमें संचालन समिति संयोजक राजीव मोहन अग्रवाल ने अध्यक्षता की ।
बैठक में संचालन समिति के सदस्य विनोद शर्मा ने कहा कि 27 फरवरी को जब ऋषिकेश व्यापार महासंघ व नगर उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल का एकीकरण हुआ था ,तो स्पष्ट था कि इसमें बाहरी किसी भी संगठन व व्यापारी का हस्तक्षेप नहीं होगा केवल महासंघ की संचालन समिति (कोर कमेटी) का ही हस्तक्षेप होगा। परन्तु लगातार दो दिन पूर्व मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल द्वारा बाहरी व्यक्तियों को ऋषिकेश में बुलाकर चुनावी प्रक्रिया को बिगाड़ने का काम कर रहे ।हैं जिसकी शिकायत भी मिली हैं। साथ ही समाचार पत्रों व सोशल मीडिया सहित महासंघ के सदस्य दीपक जाटव द्वारा लिखित शिकायत से जानकारी मिली कि मुख्य चुनाव अधिकारी ने तय समय के बाद बिना रशीद काटे सदस्यता फार्म जमा किये। साथ ही प्रत्याशी के प्रतिष्ठान पर लाइव पत्रकार वार्ता की, बिना सहचुनाव अधिकारी के प्रेस वार्ता की जिसमें भी प्रत्याशी मौजूद थे जोकि चुनाव अधिकारी के पद का दुरुपयोग करना है। इसलिये संचालन समिति की आपातकालीन बैठक बुलाई जिसमें राजेन्द्र सेठी, विनोद शर्मा, राजेश भट्ट, नवल कपूर व जयेन्द्र रमोला ने शिरकत जबकि अन्य सदस्यों ने अलग अलग व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुऐ बैठक में आने में असमर्थता जताई तो बैठक में संचालन समिति ने निर्णय लिया कि मुख्य चुनाव अधिकारी पर पद के दुरुपयोग के आरोप सही पाये गये हैं इसलिये उनको कल बुधवार सुबह 11 बजे तक जवाब माँगा गया है संतुष्ठात्मक जवाब व जवाब ना देने पर मुख्य चुनाव अधिकारी नरेश अग्रवाल के विरूद्ध निलम्बन की कार्यावाही की जायेगी ।
नवल कपूर ने कहा कि यह ऋषिकेश के व्यापारियों का संगठन है इसमें बाहरी लोगों का हस्तक्षेप होना दुर्भाग्यपूर्ण है ।
बैठक के पश्चात संचालन विनोद शर्मा के नेतृत्व में सूरज गुल्हाटी, राजेन्द्र सेठी, राजीव मोहन अग्रवाल, जयेन्द्र रमोला, राजेश भट्ट व दीपक जाटव ने नरेश अग्रवाल को नोटिस उनके कार्यालय में जाकर सौंपा ।

Related Articles

Close