शहर में खास

व्यापारियों को देंगे कंट्रोल रूम और टोलफ्री नंबर की सुविधा: प्रदीप गुप्ता

 

ऋषिकेश,09 अप्रैल। व्यापारी संगठन के चुनाव अपने उफान पर हैं। जिस तरह की तैयारियां और रणनीति रोजाना देखने को मिल रही है उसे देखकर सहज अंदाज़ा हो जाता है कि विधानसभा चुनावों जैसी सरगर्मियां हैं। इन्ही सब मुद्दों को लेकर आज का आदित्य ने चुनावी समर में उतरे प्रत्याशियों से बात की।

पेश है वार्ता के प्रमुख अंश:…
*प्रदीप गुप्ता,* प्रत्याशी महामंत्री पद।
सवाल: कई बार व्यापारियों को कभी अतिक्रमण तो कभी अफसरों के उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है। ऐसे में आप समस्त छोटे बड़े व्यापारियों का कंधा कैसे मज़बूत करेंगे?
जवाब: मेरे लिए सभी व्यापारी समान अधिकार और इज्जत के हकदार हैं। मैं आश्वस्त करना चाहूंगा कि बतौर महामंत्री मैं सभी व्यापारियों का सेवक बनकर कंधा मज़बूत करूँगा। कई बार व्यापारियों को अपनी समस्या बताने के लिए भटकना पड़ता है। इसके लिए हम व्यापारी संगठन की कार्यकारिणी गठित होने के बाद एक अत्याधुनिक कंट्रोल रूम गठित करेंगे। इसके साथ ही टोलफ्री नंबर उपलब्ध कराया जाएगा। कंट्रोल रूम का काम होगा कि जैसे ही कोई व्यापारी भाई को कोई समस्या दर्ज होगी वह मैसेज के माध्यम से उसको सभी पदाधिकारियों को वायरल करेगा। इसके साथ ही सभी जिम्मेदार लोग पूरी क्षमता के साथ उसका तत्काल निराकरण किया जाएगा। कई बार संगठन के पदाधिकारी विभिन्न कार्यों से शहर के बाहर होते हैं। मसलन कोई पदाधिकारी देहरादून है हरिद्वार तो आवश्यकतानुसार वह शासन प्रशासन को समस्या से अवगत कराने का काम करेगा। इससे न सिर्फ व्यापारियों में संवाद घना होगा बल्कि मुद्दों का हल भी त्वरित रूप से निकल सकेगा।
सवाल: देखा जा रहा है कि व्यापारी संगठन के चुनाव विधानसभा चुनावों की तरह बढ़चढ़कर हो रहे हैं ऐसा क्यों?
जवाब: पहली बार ऋषिकेश में व्यापारी संगठन पूरे मनोयोग से सर्वमान्य और सशक्त पदाधिकारी चुनने को संकल्पित हैं। व्यापारियों को महसूस हुआ है कि हम सशक्त संगठन का निर्माण करें। ऐसे पदाधिकारी को चुनें जो उम्मीदों पर खरा उतरे। ये चुनाव व्यापारियों के भरोसे की इमारत गढ़ने वाला है। लिहाजा सभी व्यापारी भाइयों के उत्साह ने इस चुनाव को भव्यता दी है। हम भरोसा दिलाना चाहेंगे कि कार्यकारिणी गठित होने के बाद सभी व्यापारी भाइयों के स्वाभिमान और उनके हितों को नई ऊंचाई देने का काम करूंगा। कोई भी व्यापारी छोटा या बड़ा बिल्कुल भी नहीं है। सबके हितों की रक्षा की जाएगी।
सवाल: आप खुद को विरोधियो की अपेक्षा खुद को कैसे मज़बूत पाते हैं?
जवाब: जमीनी प्रयास और सुखदुख में साथ…यही हमारा मूलमंत्र है। आपको बताना चाहूंगा कि पहले से ही हर मौके पर अपने व्यापारी भाइयों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने की मेरी फितरत रही है। जब भी कोई व्यापारी भाई किसी मुसीबत में दिखा तो फौरन पहुँचा हूं और हर संभव मदद पहुचाई। कई बार ऐसा भी हुआ कि मुझे खुद मुकदमे झेलने पड़े। इसके बावजूद मेरा जज्बा कम नहीं हुआ है। जहां भी कोई व्यापारी प्रताड़ना का शिकार होगा तो वहां प्रतिरोध के लिए आगे खड़ा मिलूंगा। हम लगातार व्यापारियों से मिलकर अपने पक्ष में मतदान की अपील कर रहे हैं। डोर टू डोर सबसे कई चक्र मुलाकात भी हो चुकी है। यही हमारी मज़बूती भी है।
——//-
व्यापारियों को देंगे कंट्रोल रूम और टोलफ्री नंबर की सुविधा: प्रदीप गुप्ता
ऋषिकेश। व्यापारी संगठन के चुनाव अपने उफान पर हैं। जिस तरह की तैयारियां और रणनीति रोजाना देखने को मिल रही है उसे देखकर सहज अंदाज़ा हो जाता है कि विधानसभा चुनावों जैसी सरगर्मियां हैं। इन्ही सब मुद्दों को लेकर आज का आदित्य ने चुनावी समर में उतरे प्रत्याशियों से बात की। पेश है वार्ता के प्रमुख अंश:…
*प्रदीप गुप्ता,* प्रत्याशी महामंत्री पद।

👉सवाल: कई बार व्यापारियों को कभी अतिक्रमण तो कभी अफसरों के उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है। ऐसे में आप समस्त छोटे बड़े व्यापारियों का कंधा कैसे मज़बूत करेंगे?

👉जवाब: मेरे लिए सभी व्यापारी समान अधिकार और इज्जत के हकदार हैं। मैं आश्वस्त करना चाहूंगा कि बतौर महामंत्री मैं सभी व्यापारियों का सेवक बनकर कंधा मज़बूत करूँगा। कई बार व्यापारियों को अपनी समस्या बताने के लिए भटकना पड़ता है। इसके लिए हम व्यापारी संगठन की कार्यकारिणी गठित होने के बाद एक अत्याधुनिक कंट्रोल रूम गठित करेंगे। इसके साथ ही टोलफ्री नंबर उपलब्ध कराया जाएगा। कंट्रोल रूम का काम होगा कि जैसे ही कोई व्यापारी भाई को कोई समस्या दर्ज होगी वह मैसेज के माध्यम से उसको सभी पदाधिकारियों को वायरल करेगा। इसके साथ ही सभी जिम्मेदार लोग पूरी क्षमता के साथ उसका तत्काल निराकरण किया जाएगा। कई बार संगठन के पदाधिकारी विभिन्न कार्यों से शहर के बाहर होते हैं। मसलन कोई पदाधिकारी देहरादून है हरिद्वार तो आवश्यकतानुसार वह शासन प्रशासन को समस्या से अवगत कराने का काम करेगा। इससे न सिर्फ व्यापारियों में संवाद घना होगा बल्कि मुद्दों का हल भी त्वरित रूप से निकल सकेगा।
सवाल: देखा जा रहा है कि व्यापारी संगठन के चुनाव विधानसभा चुनावों की तरह बढ़चढ़कर हो रहे हैं ऐसा क्यों?

👉जवाब: पहली बार ऋषिकेश में व्यापारी संगठन पूरे मनोयोग से सर्वमान्य और सशक्त पदाधिकारी चुनने को संकल्पित हैं। व्यापारियों को महसूस हुआ है कि हम सशक्त संगठन का निर्माण करें। ऐसे पदाधिकारी को चुनें जो उम्मीदों पर खरा उतरे। ये चुनाव व्यापारियों के भरोसे की इमारत गढ़ने वाला है। लिहाजा सभी व्यापारी भाइयों के उत्साह ने इस चुनाव को भव्यता दी है। हम भरोसा दिलाना चाहेंगे कि कार्यकारिणी गठित होने के बाद सभी व्यापारी भाइयों के स्वाभिमान और उनके हितों को नई ऊंचाई देने का काम करूंगा। कोई भी व्यापारी छोटा या बड़ा बिल्कुल भी नहीं है। सबके हितों की रक्षा की जाएगी।

👉सवाल: आप खुद को विरोधियो की अपेक्षा खुद को कैसे मज़बूत पाते हैं?
जवाब: जमीनी प्रयास और सुखदुख में साथ…यही हमारा मूलमंत्र है। आपको बताना चाहूंगा कि पहले से ही हर मौके पर अपने व्यापारी भाइयों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने की मेरी फितरत रही है। जब भी कोई व्यापारी भाई किसी मुसीबत में दिखा तो फौरन पहुँचा हूं और हर संभव मदद पहुचाई। कई बार ऐसा भी हुआ कि मुझे खुद मुकदमे झेलने पड़े। इसके बावजूद मेरा जज्बा कम नहीं हुआ है। जहां भी कोई व्यापारी प्रताड़ना का शिकार होगा तो वहां प्रतिरोध के लिए आगे खड़ा मिलूंगा। हम लगातार व्यापारियों से मिलकर अपने पक्ष में मतदान की अपील कर रहे हैं। डोर टू डोर सबसे कई चक्र मुलाकात भी हो चुकी है। यही हमारी मज़बूती भी है।
——//-
*ललित मोहन मिश्र,* प्रत्याशी अध्यक्ष।
सवाल: कई मौकों पर पूर्व में व्यापारी संगठन बिखरे दिखे और मतदाता लाचार नज़र आये। आगे क्या रूपरेखा होगी?
जवाब: पूर्व में जब भी कहीं व्यापारी संकट में दिखे मैं बिना समय गंवाए मौके पर खड़ा दिखा। अपने स्तर से जितना संभव हुआ लड़ाई लड़ी। इसी का सकारात्मक परिणाम ये कि पूरे ऋषिकेश का व्यापारी वर्ग हमें पूरे वेग से समर्थन दे रहा है। आगे हम और सशक्त होंगे। इसका गुणात्मक परिणाम आने वाले समय में देखने को मिलेगा। सबसे अच्छी बात ये है कि हमारा व्यापारी वर्ग दलीय भेद से ऊपर उठकर संगठन की मजबूती के लिए हमें समर्थन दे रहा है। आगे हम ये सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यापारी अनावश्यक रूप से किसी भी प्रताड़ना का शिकार न हो।, प्रत्याशी अध्यक्ष।
सवाल: कई मौकों पर पूर्व में व्यापारी संगठन बिखरे दिखे और मतदाता लाचार नज़र आये। आगे क्या रूपरेखा होगी?

जवाब: पूर्व में जब भी कहीं व्यापारी संकट में दिखे मैं बिना समय गंवाए मौके पर खड़ा दिखा। अपने स्तर से जितना संभव हुआ लड़ाई लड़ी। इसी का सकारात्मक परिणाम ये कि पूरे ऋषिकेश का व्यापारी वर्ग हमें पूरे वेग से समर्थन दे रहा है। आगे हम और सशक्त होंगे। इसका गुणात्मक परिणाम आने वाले समय में देखने को मिलेगा। सबसे अच्छी बात ये है कि हमारा व्यापारी वर्ग दलीय भेद से ऊपर उठकर संगठन की मजबूती के लिए हमें समर्थन दे रहा है। आगे हम ये सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यापारी अनावश्यक रूप से किसी भी प्रताड़ना का शिकार न हो।

Related Articles

Close