उत्तराखंड

अस्पताल में तीमारदारों और डॉक्टरों के बीच विवाद, बढ़ाई गई सुरक्षा

हल्द्वानी। सुशीला तिवारी अस्पताल कोरोना मरीजों से फुल हो चुका है। अस्पताल में लगातार संक्रमित मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। वहीं, इलाज के दौरान कई मरीजों की मौत हो चुकी है। जिसकी वजह से डॉक्टरों और तीमारदारों के बीच कई बार विवाद देखने को मिल रहा है। ऐसे में अस्पताल और डॉक्टरों की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चैबंद कर दी है। एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने कहा कि लगातार बढ़ रहे मरीजों की संख्या के साथ ही अस्पतालों में तीमारदारों की भी संख्या बढ़ रही है। जिसके चलते डॉक्टरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लिहाजा अस्पताल प्रशासन ने भी पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई थी, जिसके बाद उन्होंने खुद अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में अतिरिक्त पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है, जिससे डॉक्टरों और तीमारदारों के बीच किसी तरह की कोई परेशानी और विवाद ना हो. सीईओ हल्द्वानी को अस्पताल के सुरक्षा का प्रभारी बनाया गया है। समय-समय पर अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहेंगे। गौरतलब है कि सुशीला तिवारी अस्पताल में लगातार मरीजों की बढ़ती संख्या और कई मरीजों की मौत के बाद तीमारदार और डॉक्टरों के बीच विवाद सामने आ रहे हैं। जिसके बाद डॉक्टर खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। ऐसे में अस्पताल प्रशासन ने एसएसपी को पत्र लिखकर अस्पताल और डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग की थी, जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने अस्पताल की सुरक्षा बढ़ाई है।

 

Related Articles

Close