उत्तराखंडक्राइम

900 रुपये का फ्लो मीटर 9000 में बेचने दो दबोचे

हल्द्वानी। कोरोना संक्रमण काल मे दवाइयों और मेडिकल उपकरणों की कालाबाजारी की लगातार मिलती शिकायतों पर पुलिस और प्रशासन की टीम ने एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। संयुक्त टीम ने मुखानी चैराहे के समीप स्थित सर्जिकल स्टोर में छापा मारकर कई फ्लो मीटर बरामद किए हैं। कारोबारी कार में फ्लो मीटर छिपाकर एमआरपी से चार गुना दाम वसूलकर जरूरतमंद लोंगो को बेच रहा था। हालाकि सामान्य दिनों में ये फ्लो मीटर एमआरपी से आधे से भी कम दामों में बिकते हैं।
प्रशासन को मंगलवार की दोपहर किसी मे वीडियो भेजकर मुखानी-आईटीआई रोड पर स्थित यूके सर्जिकल से फ्लो मीटर की कालाबाजारी होने की शिकायत की थी। इस पर तहसीलदार ने मामले की जांच कराई तो शिकायत की पुष्टि हुई। कालाबाजारी की पुष्टि होते ही एसपी क्राइम देवेंद्र पींचा के नेतृत्व में पुलिस और एसओजी की टीम ने दुकान में छापा मार दिया। पुलिस को मौके से कई फ्लो मीटर बरामद हुए हैं। पुलिस ने सर्जिकल स्टोर से दो लोंगो को गिरफ्तार किया है। जांच में पता चला कि वह 2200 रुपये एमआरपी के फ्लो मीटर को आठ से नौ हजार तक रुपये में बेच रहे थे। जबकि ये फ्लो मीटर सामान्य दिनों में 700 से 900 रुपये तक बिकते हैं। उन्होंने एक कार में भी फ्लो मीटर छिपाकर रखे थे।
एसओजी और पुलिस ने कार और उसमें रखे फ्लो मीटर भी बरामद कर लिए हैं। हीरानगर चैकी प्रभारी रजवीर नेगी ने बताया कि बरामद फ्लो मीटर की गिनती की जा रही है। दोनों कारोबारियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मरीज को ऑक्सीजन सिलेंडर लगाने के लिए फ्लो मीटर जरूरी होता है। कोरोना काल मे काफी मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत हो रही है। जिस कारण कुछ कारोबारी इसकी कालाबाजारी कर जरूरतमंदों से लूट खसोट कर रहे हैं। यहाँ बता दें कि रविवार को भी प्रशासन और पुलिस ने छापेमारी कर दो कारोबारियों को पकड़ा था। उन पर भी विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Related Articles

Close