उत्तराखंड

अतिक्रमण हटाना पड़ा भारी, नगर निगम को झेलनी पड़ी फजीहत

ऋषिकेश, 29 जुलाई। संयुक्त यात्रा बस अड्डा परिसर में कांजी हाउस की जमीन को खाली कराने आई नगर निगम की टीम को विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान निगम की टीम दुकानदार के साथ तीखी नोकझोंक भी हुई ।जिसके बाद नगर निगम की टीम को वापस लौटना पड़ा। जबकि मामले में दुकानदार के पास कोर्ट का स्टे आर्डर है। ऐसे में निगम की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे हैं। दुकान संचालक नरेंद्र रतूड़ी का कहना है कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है◦और इसमें जब तक कोर्ट का निर्णय नहीं होता मामले मे यथास्थिति रहेगी इस दौरान अतिक्रमण हटाने गई नगर निगम की टीम को फजीहत झेलनी पड़ी इस दौरान भाजपा व कांग्रेस से जुड़े कई जनप्रतिनिधि दुकानदार का समर्थन किया। बता दें कि हाल ही में अपर गढ़वाल आयुक्त हरक सिंह रावत ने आईएसबीटी परिसर में अतिक्रमण को हटाने की बात कही थी। जिसके बाद नगर निगम ने यह कार्रवाई की लेकिन नगर निगम प्रशासन ने अपर गढ़वाल आयुक्त को यह नही बताया कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है। ऐसे में उनके कार्य शैली पर सवाल उठना लाजमी है। आखिर किस के सह पर कार्रवाई हुई। इस दौरान सुधार राय, आशूतोष शर्मा, नवीन रमोला, मदन कोठरी, दिनेश सती, ज्योति सजवाण, हरीश तिवाड़ी, अजीत गोल्डी, शिव कुमार गोतम, सुमित पंवार आदि जन मौजूद रहे।

Related Articles

Close