उत्तराखंडस्वास्थ्य

*हिमालयन हॉस्पिटल का आयुष्मान योजना में एक और कीर्तिमान*

*-आयुष्मान योजना से कार्डियक सर्जरी विभाग में 500 से ज्यादा सर्जरी*

*👉आयुष्मान योजना के तहत सर्वाधिक रोगियों को उपचार देने में हिमालयन हॉस्पिटल देशभर में अग्रणी*

डोईवाला, 08 अगस्त। आयुष्मान योजना के तहत हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट ने एक और बड़ी महत्वपूर्ण उपलब्धि दर्ज की है। आयुष्मान योजना के तहत हिमालनय हॉस्पिटल के कार्डियक सर्जरी विभाग में अब तक 500 से ज्यादा विभिन्न तरह की सर्जरी की जा चुकी हैं।
हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.एसएल जेठानी ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत देशभर में सर्वाधिक रोगियों को उपचार देने में हिमालयन हॉस्पिटल पहले पायदान पर रहा है। कोरोना संकट काल में भी हिमालयन हॉस्पिटल रोगियों को गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवा देने से पीछे नहीं हटा।

*सीटीवीएस विभाग में 500 से ज्यादा सर्जरी का रिकॉर्ड*

हिमालयन हॉस्पिटल में कार्डियक थोरेसिक सर्जन डॉ.अक्षय चौहान व कार्डियक एनेस्थेटिस्ट डॉ.दीपक ओबरॉय ने बताया कि करीब डेढ़ वर्ष में सीटीवीएस विभाग की ओर से आयुष्मान योजना के तहत 500 से ज्यादा कार्डियक सर्जरी की जा चुकी हैं। इसमें बीटिंग हार्ट सर्जरी, हाई रिस्क बाईपास सर्जरी, हार्ट वॉल्व रिप्लेसमेंट, हार्ट ट्यूमर रिमूवल, हृदय में छेद सहित जटिल फेफड़ों की सर्जरी, जटिल वैस्कूल्यूर सर्जरी व विभिन्न तरह की सर्जरी शामिल हैं।

*अब तक 63000 से ज्यादा रोगियों का उपचार*

मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.एसएल जेठानी ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत रोगियों को निशुल्क उपचार देने में हिमालयन हॉस्पिटल ने एक मिसाल कायम की है। आयुष्मान योजना साल 2018 के आखिर में लागू हुई। वर्तमान में अब तक 63000 से ज्यादा रोगियों का उपचार किया जा चुका है।

*हिमालयन देश का पहला आयुष्मान गोल्ड सर्टिफाइड टीचिंग हॉस्पिटल*

हिमालयन हॉस्पिटल ने आयुष्मान योजना के तहत देशभर में सबसे ज्यादा रोगियों का निशुल्क उपचार ही नहीं किया। बल्कि उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य मानकों के तहत गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सुविधा भी मुहैया करवाई। इसके लिए भारत सरकार ने हिमालयन हॉस्पिटल को ‘आयुष्मान गोल्ड सर्टिफिकेशन’ का दर्जा दिया।

Related Articles

Close