उत्तराखंडपुलिस डायरी

हत्याकांड का पर्दाफाशःदुष्कर्म के बाद जेल जाने के डर से की आरोपियों ने नाबालिग की हत्या

हल्द्वानी । बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में किशोरी के दुष्कर्म के बाद हुई हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपितों ने बताया कि छात्रा ने दुष्कर्म करने की बात अपने स्वजनों को बताकर जेल भेजने की धमकी दी थी। इसी लिए उन्होंने गला घोंटकर उसे मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने दोनों आरोपितों को कोर्ट में पेश कर दिया है।
पुलिस बहुउद्देश्यीय भवन में गुरुवार को एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने पत्रकार वार्ता की। बताया कि 29 को छात्रा की गुमशुदगी दर्ज करने के बाद से पुलिस ढूंढ़खोज में लगी रही। संदेह के घेरे में आने के बाद दानिश (20) और जीशान (20) को पूछताछ के लिए उठाया गया। दानिश ने बताया कि छात्रा से उसका प्रेम संबंध था। 29 सितंबर को दानिश ने अपने दोस्त जीशान को कहा कि वह छात्रा से कहे कि वो हिमालय स्कूल के सामने पुलिया के नीचे उससे आकर मिले। जीशान को छात्रा रजा मस्जिद से बुलाकर पुलिया के नीचे ले आया। जहां पहले से मौजूद दानिश ने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद जीशान भी उससे शारीरिक संबंध बनाने की मांग करने लगा।छात्रा के मना करने पर दानिश ने उसके हाथ पकड़े और जीशान ने भी छात्रा से दुष्कर्म किया। इसके बाद छात्रा ने ये बात परिजनों को बताने की बात कह दी। ऐसे में डर के मारे दोनों ने उसी की चुनरी की रस्सी बनाकर उसका गला घोंट दिया। किसी को पता न चले इसके लिए लाश गौला जंगल के पास एक गंदे नाले में फेंक दी। लाश के ऊपर जूट के गद्दे डाल दिये। टीम में एसओ प्रमोद पाठक, एसआई  दीवान  सिंह बिष्ट, एसआई, कुसुम रावत, एसआई अमर पाल, कांस्टेबल संजय साहनी,  अमनदीप सिंह, दिलशाद हुसैन,  मदन सिंह, हरिकृष्ण मिश्रा, सुनीता सीपाल, पुनीता पाठक शामिल रहे।

Related Articles

Close