उत्तराखंडशहर में खास

नगर निगम ने कुंभ मेला बजट में मिले करोड़ों रुपए के कूड़ेदान को किया कूड़े के ढेर में तब्दील

ऋषिकेश, 18अक्टूबर। कुंभ मेला 2021 के तहत करोड़ों रुपए के बजट से नगर निगम ऋषिकेश क्षेत्र में कूड़ेदान लगाए गए थे। लेकिन नगर निगम प्रशासन की लापरवाही के चलते यह कूड़ादान खुद ही कूड़े का ढेर बनकर रह गए हैं।

कुंभ मेला बजट से नगर निगम क्षेत्र में एम्स रोड, वीरभद्र रोड, आस्था पथ, त्रिवेणीघाट आदि क्षेत्रों में कूड़ेदान लगाए गए थे। लेकिन 2 महीनों के भीतर ही यह कूड़ेदान एक-एक करके टूटते चले गए। अब यह कूड़ेदान वीरभद्र रोड गली नंबर 03 के खुले मैदान में कूड़े का ढेर बना कर फेंक दिए गए हैं। कूड़े को एकत्रित रखने वाले कूड़ादान स्वयं कूड़े का ढेर बनकर खुद को ठगा सा महसूस। जिससे नगर निगम प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। नगर निगम प्रशासन की लापरवाही के चलते करोड़ों रुपए के बजट से शहर भर में लगाए गए डस्टबिन कबाड़ में तब्दील हो गए हैं। वीरभद्र वीरभद्र मार्ग पर गली नंबर 3 में खुले मैदान में पड़े डस्टबिनाे की फोटो और वीडियो भी स्थानीय लोगों ने सोशल मीडिया पर वायरल की है। लोगों का कहना है कि कुंभ मेला बजट के कार्यों में जनता की गाढ़ी कमाई के पैसे को ठिकाने लगाया गया है। लोगों का कहना है कि नगर निगम प्रशासन वैसे तो बजट का रोना रोता है, लेकिन कुंभ बजट में मिले पैसे का नगर निगम मने सही इस्तेमाल नहीं किया। वही शहर की सफाई व्यवस्था किसी से छुपी नहीं है। ऐसे में स्वच्छ शहर की रैंकिंग में अव्वल आने का नगर निगम ऋषिकेश का सपना असफल नजर आ रहा है। लोगों का कहना है कि नगर निगम प्रशासन प्रधानमंत्री मोदी की स्वच्छ भारत मिशन को पलीता लगा रहा है।
वहीं सहायक नगर आयुक्त एलम दास का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं है। मामले के संबंध में स्थलीय निरीक्षण के बाद जिम्मेदार अधिकारियों पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Close