उत्तराखंडहादसा

देर रात सड़क हादसे में तीन दोस्तों की मौत

रूद्रपुर, 18 अक्टूबर। जसपुर में सड़क हादसे में तीन दोस्तों की मौत हो गई है। आरोपी ट्रक ड्राइवर घटनास्थल से फरार हो गया। पीयूष उर्फ निक्कू (22) पुत्र गिरिराज सिंह निवासी निवारमंडी, अमन (26) वर्ष पुत्र डोरी सिंह निवासी गांव भगवंतपुर और सूर्य प्रताप (22) पुत्र ऋषि पाल सिंह निवासी नागर कालोनी आपस में रिश्तेदार थे। बीटेक पास तीनों युवकों में गहरी दोस्ती थी।

रविवार को पीयूष के भाई अमित के बेटे का बर्थडे था। शाम को तीनों दोस्त अपनी कार से बर्थडे का सामान और खिलौना बदलने जसपुर आए थे। बाद में वह लक्ष्मीपुर खेड़ा गांव की ओर चले गए। इनकी कार के साथ लकड़ी से भरा 18 टायर वाला ट्रक चल रहा था। ट्रक जसपुर से ठाकुरद्वारा की ओर जा रहा था।रेहमापुर गांव के पास अचानक ट्रक कार के ऊपर पलट गया जिससे तीनों युवक कार समेत ट्रक के नीचे दब गए। तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस ने जेसीबी और क्रेन मंगाकर ट्रक को सीधा करके कार को निकाला।
कार पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी। कार को काटकर शवों को बाहर निकाला गया। उन्हें सरकारी अस्पताल लेकर आया गया। कोतवाली पुलिस के अनुसार आरोपी चालक ट्रक मौके पर छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने ट्रक कब्जे में ले लिया है। सड़क हादसे में तीन दोस्तों की मौत से घर से लेकर मोहल्ले तक में मातम पसरा है। हादसे में जान गंवाने वाले अमन और पीयूष अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे। पीयूष विधायक का भतीजा था। दोनों दोस्तों के साथ हादसे का शिकार हुआ तीसरा साथी सूर्यप्रताप के एक छोटा भाई है। तीनों की मौत की खबर से घर से लेकर मोहल्ले तक मातम पसरा हुआ है। रविवार देर रात दुर्घटना की सूचना मिलते ही देखते ही देखते भारी संख्या में लोग अस्पताल पहुंच गए। परिवार में कोहराम मच गया।

तीनों युवक अविवाहित थे। अमन और पीयूष उर्फ निक्कू अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे, इनके एक-एक बहन है। सूर्य प्रताप के एक छोटा भाई है। तीनों युवक जब बर्थडे का सामान लेकर घर नहीं पहुंचे तो पीयूष का चचेरा भाई अमित उन्हें खोजने के लिए घर से जसपुर आया।हादसे की मनहूस सूचना मिलने पर अनहोनी की आशंका से घटनास्थल पर पहुंचा तो बदहवास हो गया कि जिन्हें कुछ देर पहले हंसते-बोलते हुए कार से जाते देखा, उनकी मृत देह कार के भीतर है। उसने यह सूचना परिजनों को दी। तीनों के माता-पिता और परिजन बदहवास हालत में किसी तरह अस्पताल पहुंचे। अस्पताल में बेटों के शव देखकर परिजन बेसुध हो गए। पीयूष उर्फ निक्कू विधायक आदेश चौहान का भतीजा था।घटना की जानकारी मिलते ही विधायक आदेश चौहान, पूर्व विधायक डॉ. शैलेंद्र मोहन सिंघल, एसपी काशीपुर प्रमोद कुमार मौके पर पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दी। उधर, क्षेत्र के सैकड़ों लोग सरकारी अस्पताल पहुंच गए। ठाकुरद्वारा जसपुर मार्ग पर एक घंटे तक जाम लगा रहा। युवकों के शव कार काटकर निकाले गए। परिजनों ने बताया कि तीनों युवकों की पढ़ाई पूरी हो गई थी। ऐसे में माता-पिता अपने-अपने बेटों की शादी के लिए लड़की तलाशने में जुटे थे। इसी बीच रविवार रात हुए इस हादसे ने तीनों परिवारों की खुशियां छीन लीं।

Related Articles

Close