आपदाउत्तराखंड

गंगा ने किया खतरे के निशान को पार, कई घाट हुए जलमग्न

हरिद्वार, 19 अक्टूबर। पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश के चलते गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जिसको देखते हुए प्रशासन ने स्थिति पर नजर बना रखी है। हरिद्वार में गंगा नदी का जलस्तर भी चेतावनी के निशान 294 मीटर से लगभग 0.35 सेंटीमीटर ऊपर है। गंगा के जलस्तर को देखते हुए प्रशासन ने आपदा कंट्रोल रूम लखनऊ को सूचना दे दी है।

उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के एसडीओ शिवकुमार कौशिक का कहना है कि जिस तरह से लगातार बारिश हो रही है। उसके कारण हरिद्वार में गंगा का जलस्तर सुबह 8 बजे चेतावनी के निशान से ऊपर चला गया है। फिलहाल स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। साथ ही पहले ही गंगा तट से जुड़े हुए क्षेत्रों जिनमें आबादी थी उन्हें खाली करा लिया है। वहीं, गंगा के बढ़ते जलस्तर की वजह से कई घाट जलमग्न हो गए हैं। परमार्थ निकेतन घाट पर बनीं शिव की मूर्ति को छूकर गंगा बह रही है। ऋषिकेश त्रिवेणी घाट भी जलमग्न हो गया है। आलम ये है कि परमार्थ निकेतन स्थित प्रमाणित घाट पर लगी शिव की मूर्ति को छूकर गंगा बह रही है। गंगा का जलस्तर बढ़ने की वजह से चंदेश्वर नगर के कुछ क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति हो गई थी, प्रशासन ने एहतियातन बस्ती में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया है।

Related Articles

Close