उत्तराखंडनशा का कारोबार

उत्तर प्रदेश के विधायक ने की तीर्थनगरी में अवैध शराब और मांस पर प्रतिबंध की मांग, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को भेजा ज्ञापन

ऋषिकेश, 21अक्टूबर। उत्तर प्रदेश सरकार में लोनी से विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखकर तीर्थनगरी और आसपास के क्षेत्रों में अवैध शराब मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। उत्तर प्रदेश के विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में बताया कि वह बीते बुधवार को नीलकंठ महादेव मंदिर में दर्शन के उद्देश्य से ऋषिकेश आए हुए हैं। जहां साधु-संतों से वार्ता में उन्होंने बताया कि गरुड़ चट्टी, फूलचट्टी, नीलकंठ महादेव मार्ग आदि स्थानों पर पिछले कुछ दिनों से अवैध शराब की दुकान प्रशासन के संरक्षण में खोली जा रही है। वहीं पुराना रेलवे स्टेशन के पास व अन्य स्थानों पर मांस की दुकानें भी संचालित की जा रही है, जो चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि वह निरंतर भगवान नीलकंठ महादेव के दर्शन को आते हैं। पिछले कुछ दिनों से उन्होंने स्वयं भी अवैध शराब और मांस की दुकान खुली देखी हैं। जिससे मन व्यथित है। कहा कि देवभूमि के ऋषिकेश और हरिद्वार के आसपास का क्षेत्र जागृत देवी-देवताओं, भगवान विष्णु, मां गंगा और भगवान भोलेनाथ का सिद्धि स्थान होने के साथ ही योगनगरी, धार्मिक पर्यटन केंद्र और सनातन धर्मावलंबियों के लिए विशेष आस्था का केंद्र है। विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि शराब और मांस की दुकानों के संचालक और भू माफियाओं की गठजोड़ से प्राचीन आश्रम एवं मंदिरों की भूमि पर भी लगातार कब्जा किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र में अपराध में बढ़ोतरी और धर्म का ह्रास हुआ है। इस संबंध में संतजनों द्वारा प्रशासन को पूर्व में कई बार अवगत भी कराया गया है। लेकिन अवैध मांस और शराब माफियाओ से स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत होने के कारण संतजनों की आवाज को अनसुना किया जा रहा है, जो दुखद है। प्रदेश में आध्यात्म में गहरी रुचि रखने वाले मुख्यमंत्री के होते हुए भी संतजनों की बातों का स्थानीय प्रशासन पर असर नहीं पड़ना चिंताजनक है। इससे सनातन धर्मावलंबियों और साधु संतो में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से अनुरोध किया है कि ऋषिकेश व हरिद्वार समेत अन्य पौराणिक व आध्यात्मिक महत्व की तपोभूमि की पवित्रता और रक्षा के लिए उक्त स्थानों से तत्काल मांस व शराब की दुकानों को पूर्व की भांति शख्ती से बंद किया जाए। हरिद्वार और ऋषिकेश के आसपास 10 किलोमीटर के दायरे में सख्ती से शराब और मांस की बिक्री पर प्रतिबंधित सुनिश्चित किया जाए। जिससे देवभूमि के नाम की सार्थकता खंडित और धूमिल न हो। उन्होंने इस पत्र की प्रतिलिपि जिलाधिकारी देहरादून को भी आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित की है।

Related Articles

Close