उत्तराखंडप्रशासनिक खबरें

वक्फ बोर्ड भंग, सीईओ डॉ. इकबाल बने प्रशासक

नये बोर्ड गठन की प्रक्रिया हुई शुरू

बोर्ड के गठन तक प्रशासक के पास रहेंगी सारी शक्तियां
देहरादून। उत्तराखण्ड वक्फ बोर्ड का कार्यकाल पूरा होते ही सरकार ने नये बोर्ड के गठन की तैयारी शुरू करने के साथ मुख्य कार्यपालक अधिकारी व अपर सचिव डॉ. अहमद इकबाल को प्रशासक नियुक्त कर दिया है। बोर्ड गठन तक बोर्ड की सारी शक्तियां उनके अधीन रहेंगी। पिछली कांग्रेस सरकार ने 25 अक्टूबर 2016 को उत्तराखण्ड वक्फ बोर्ड का गठन किया था, जिसका कार्याकाल विगत 24 अक्टुबर को समाप्त हो गया था, शासन ने बोर्ड भंग कर नये बोर्ड गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के गठन होने तक सरकार ने बोर्ड की व्यवस्था देखने के लिये मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ. अहमद इकबाल को नए बोर्ड गठन तक प्रशासक नियुक्त कर दिया है। शासन की ओर से गुरुवार को इस संबंध में प्रमुख सचिव एल फैनई की ओर से आदेश जारी कर दिया गया है। प्रमुख सचिव एल फैनई की और से जारी आदेश में कहा गया है कि केंद्रीय वक्फ अधिनियम के तहत उत्तराखंड शासन ने वक्फ बोर्ड की धारा 15 के प्रावधान के अनुसार 5 वर्ष के लिये 25 अक्टूबर 2016 को बोर्ड का गठन किया गया था, जिसकी मुद्त 24 अक्टूबर को समाप्त हो चुकी है। प्रमुख सचिव एल फैनाई ने बताया कि उत्तराखंड वक्फ बोर्ड का कार्यकाल समाप्त होते ही नये बोर्ड के गठन की विधिवत प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। फिलहाल बोर्ड के कामकाज को सुचारू रूप से जारी रखने के लिए बोर्ड गठन तक या आगामी 6 माह तक के लिए, जो भी पहले हो, तब तक डॉ. अहमद इकबाल अपर सचिव उत्तराखंड शासन व मुख्य कार्यपालक अधिकारी वक्फ बोर्ड को समस्त शक्तियों-कर्तव्यों के साथ प्रशासक नामित किया गया है।

Related Articles

Close