उत्तराखंडहरियाणा

टी बी से मुक्त अभियान के तहत समाजसेवी अक्षत गोयल ने 25 बच्चों को मासिक पोशाहार वितरण किया

ऋषिकेश, 02 नवंबर।ऋषिकेश आस द्वारा संचालित नन्दा तू राजी खुशी रेंया एक अभियान टी बी से मुक्त अभियान के तहत समाजसेवी अक्षत गोयल के सौजन्य से 25 बच्चों को मासिक पोशाहार वितरण किया गया। इस दौरान बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी दी। इस मौके पर वरिष्ठ चिकित्सक  प्रियंका गोयल ने कहा कि टीबी रोग से बच्चों को घबराना नहीं चाहिए। समय पर दवाई लेने से टीबी रोग से मुक्ति पाई जा सकती है। छह माह व नौ महा की दवाई के बाद इस रोग से मुक्ति पाई जा सकती है। इसके अलावा हमें खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा। इस मौके पर  समाजसेवी अक्षत गोयल  टीवी रोग से पीड़ित बच्चों की मदद के लिए आगे आए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि टीवी रोग से पीड़ित बच्चों को प्रोटीन युक्त खाने की आवश्यकता होती है। इसलिए उन्हें हमेशा प्रोटीन युक्त खाना दिया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि आगे भी टीवी रोग से ग्रस्त बच्चों की आगे भी मदद की जाएगी। उन्होंने बताया कि टीवी रोग छुआछूत की बीमारी नहीं है। टीवी रोग के बच्चों के साथ घृणा नहीं करनी चाहिए बल्कि उनकी मदद के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने बताया कि टीवी मरीज के बच्चों को केवल खान-पान का ध्यान रखना पड़ता है। सरकार को भी टीवी रोग मुक्त करने के लिए अहम कदम उठाने चाहिए।

हालांकि सरकारी अस्पतालों में टीवी ग्रस्त मरीजों को निशुल्क दवा उपलब्ध कराई जाती है। उन्होंने कहा कि आस सस्था द्वारा टीवी मरीजो के उपचार के लिए सहारनिया कार्य किया जा रहा है। उन्होंने दिवाली के पर्व को देखते हुए बच्चों से आग्रह किया कि वाह ध्यान पूर्व पटाखे जलाएं। अधिक पटाखे जलाने से हमारा वातावरण दूषित होता है। इसलिए जितना हो सके कम से कम पटाखे जलाएं।इस दौरान बच्चों को मिठाई भी वितरण की गई। इस अवसर पर सस्था की सचिव हेमलता बहन ने बताया कि लोगों के सहयोग से टीबी रोग से ग्रस्त बच्चों की मदद की जा रही है। लगातार बच्चों को प्रोटीन युक्त खाना दिया जाता है। ताकि उन पर दवा असर कर सके।इस अवसर पर संजीव गोयल, अभिनव गोयल, श्रुतिका गोयल, डॉ प्रियंका गोयल, सहयोगी लक्ष्मी,पारुल,सविता,मोनिका राणा, श्रंखला रावत, लंकेश भट्ट, मुकेश रावत और रोगिजन के परिजन उपस्तिथ रहे।

Related Articles

Close