उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड

20 हजार करोड़ से भी अधिक की सम्पत्ति के विवाद का हुआ समाधान : रावत

हल्द्वानी, 19 नवंबर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रकाश रावत ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का प्रदेश वासियों की तरफ से आभार जताया कि राज्य बनने के समय से लंबित पड़े मामलों पर उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश के मध्य बनी समिति से लगभग 20 हजार करोड़ से भी अधिक की सम्पत्ति के विवाद का समाधान हुआ है जो कि एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। रावत ने इसके लिए उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई व धन्यवाद प्रेषित किया है। इससे पूर्व भी परिसम्पत्तियों के बटवारे को सुलझाने की दिशा में कोशिश हुई थी लेकिन हर बार कुछ ही मुद्दों पर सहमति बन पाई थी लेकिन आज दोनों राज्यों के सभी मुद्दों पर आम सहमति बन गई है जिससे की राज्य के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

रावत ने कहा कि सिंचाई विभाग की 57 हजार हैक्टेयर भूमि पर दोनों राज्यों का संयुक्त सर्वे होगा जिसके बाद भूमि का बटवारा होना है। पूर्व में इस मुद्दे को लेकर भी दोनों राज्यों में मतभेद थे। भारत नेपाल सीमा पर बनबसा के बैराज के पुर्ननिर्माण तथा किच्छा के बैराज का पुर्ननिर्माण उत्तर प्रदेश करायेगा। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के द्वारा उत्तराखण्ड परिवहन निगम को 205 करोड़ का भुगतान किया जायेगा। वन विभाग से संबन्धित बकाये के भुगतान हरिद्वार स्थित अलकनन्दा होटल उत्तराखण्ड को हस्तांतरित करने तथा विवादित स्थानों पर वाटर स्पोर्ट शुरू करने की अनुमति जैसे फैसले सराहनीय हैं। ये सभी मांगे 21 वर्ष से सुलझाने की दिशा में पूर्व में भी कोशिश हुई थी परन्तु वो प्रयास किन्ही कारणों से धरातल पर नहीं उतर पाये थे आज प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उत्तर प्रदेश के यक्षस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुझ-बुझ से सभी मुद्दों पर सहमति बन गई है।

 

 

 

Related Articles

Close