उत्तराखंडकोविड-19

उत्तराखण्ड पुलिस, कोरोना पॉजिटिव 50 के पार

पुलिस विभाग में 13 हजार से ज्यादा की हुई कोविड जांच

देहरादून। उत्तराखंड पुलिस विभाग में कोरोना संकरण के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। बीते दिनों राष्ट्रपति के दौरे के दौरान ऋषिकेश परमार्थ निकेतन के कार्यक्रम पर ड्यूटी में तैनात 7 पुलिसकर्मियों के कोविड पॉजिटिव आने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया था, जिसके बाद पुलिस कर्मचारियों के नए सिरे से कोविड टेस्ट हुए।
मंगलवार (30 नवंबर) से शुरू टेस्टिंग प्रक्रिया में गुरुवार सुबह तक प्रदेश में 13062 से अधिक पुलिसकर्मियों के एंटीजन टेस्ट किए गये हैं। इसमें 50 से अधिक  कर्मचारी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं।कोरोना संक्रमित  होने वाले कर्मी सबसे अधिक इंडियन रिजर्व बटालियन रामनगर में हैं। यहां 25 जवान कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि हरिद्वार जनपद में 10 और पौड़ी में 6 जवान कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं, जिन्हें वैक्सीन की डबल डोज लगी थी। संक्रमित पाए गए सभी पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। दूसरी तरफ पुलिस के सभी कार्य स्थलों में तेजी से टेस्टिंग प्रक्रिया भी बढ़ाई जा रही है।
बता दें कि उत्तराखंड पुलिस विभाग में 25 हजार से अधिक कर्मचारी और अधिकारी कार्यरत हैं। वहीं पुलिस विभाग में एक बार फिर कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमारने कहा कि टेस्टिंग प्रक्रिया तेज कर दी गई है।
मुख्यतः रामनगर स्थित इंडियन रिजर्व बटालियन सहित हरिद्वार और पौड़ी में कोविड केस बढ़ते नजर आ रहे हैं। ऐसे में एहतियात के तौर पर पॉजिटिव आने वाले कर्मियों को स्वास्थ्य उपचार और क्वारंटाइन किया जा रहा है। डीजीपी अशोक कुमार के मुताबिक कोविड-19 वेरिएंट के संबंध में फिलहाल ऐसी कोई जानकारी उनके फोर्स में संक्रमण होने वाले कर्मियों में नहीं आई है। पॉजिटिव आने वाले लोगों में पहले की तरह कोरोना के लक्षण जरूर सामने आए हैं लेकिन नए वेरिएंट की पुष्टि फिलहाल नहीं हुई है। उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमार के मुताबिक, 25,000 से अधिक पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का पहले ही वैक्सीन डबल डोज पूरा हो चुका था।
हालांकि, जो 50 पुलिसकर्मी पॉजिटिव आए हैं, उनको भी डबल डोज लगा था। पुलिस महानिदेशक के मुताबिक राष्ट्रपति के दौरे के दौरान जैसे ही 7 पुलिसकर्मियों के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी सामने आई, उसके तत्काल बाद पूरे फोर्स में नए सिरे से टेस्टिंग की प्रक्रिया का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। संक्रमण की चेन फोर्स के अंदर न घुसे इसको लेकर लगातार चिकित्सा परामर्श और स्वास्थ्य के प्रति गाइडलाइन को अपनाया जा रहा है। संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले विषय पर भी कांटैक्ट ट्रेसिंग के कार्य में भी तेजी लाई जा रही है।बताते चलें कि चमोली में चार पुलिस कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिनमें से चारों डबल डोज वाले थे। वहीं रुद्रप्रयाग में एक पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया, जिसे डबल डोज लगी थी। बागेश्वर और चंपावत में एक-एक पुलिस कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिन्हें भी वैक्सीन की डबल डोज लगी थी। इंडियन रिजर्व बटालियन में 25 पुलिस कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिन्हें वैक्सीन की डबल डोज लगी थी। वहीं एसटीएफ में एक कर्मी, जिसे डबल डोज लगी थी और आईएनटी हेडक्वार्टर में एक कर्मी, जिसे भी डबल डोज लगी थी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

Related Articles

Close