उत्तराखंडस्वास्थ्य

उत्तराखण्ड में भी अब रात्रि कर्फ्यू ओमिक्रॉन संक्रमण के चलते की गई कार्रवाई, कई सुविधाएं को दी गई छूट

देहरादून। ओमिक्रॉन संक्रमण के चलते अब उत्तराखंड में रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया है। जिसकों लेकर सोमवार को रात्रि कर्फ्यू का आदेश लागू कर दिया गया है।  कर्फ्यू रात 11.00 बजे से सुबह 5.00 बजे तक प्रभावी रहेगा।
ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में भी सोमवार से रात 11 बजे से सुबह पांच बजे के बीच बंदी रहेगी। इसके साथ ही महाराष्ट्र, यूपी, कर्नाटक, हरियाणा, गुजरात और मध्यप्रदेश में भी रात्रि कर्फ्यू प्रभावी है।
रात्रि कर्फ्यू में  यह सेवाएं 24 घंटे होंगी संचालित। उत्तराखंड में रात्रि कर्फ्यू के दौरान समस्त स्वास्थ्य सेवाएं 24 घंटे संचालित होंगी। सभी चिकित्सा कर्मियों, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य अस्पताल सहायता सेवाओं के लिए परिवहन की अनुमति होगी। तेल और गैस क्षेत्र, जिसमें उत्पादों का उत्पादन, परिवहन, वितरण, भंडारण और फुटकर बिक्री जारी रहेगी। पेट्रोल पंप, एलपीजी, पेट्रोलियम और गैस खुदरा और भंडारण आउटलेट खुले रहेंगे।। बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण सेवाएं। डाक सेवाएं, दूरसंचार, इंटरनेट सेवा, प्रसारण और केबल सेवाएं, कोल्ड स्टोरेज और वेयर हाउसिंग सेवाएं जारी रहेगी। सार्वजनिक परिवहन का राज्य के अंदर और बाहरी राज्यों से एसओपी के अधीन आवागमन जारी रहेगा। सभी मालवाहक वाहनों को राज्य और अंतरराज्यीय आवागमन के साथ सामग्री लोड करने और उतारने की अनुमति रहेगी।

ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच गृह मंत्रालय ने कोरोना गाइडलाइंस 31 जनवरी 2022 तक बढ़ाई
देश में ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच गृह मंत्रालय ने 31 जनवरी 2022 तक देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करने का नर्घ्दिेश दघ्एि हैं। इससे पहले केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए 21 दिसंबर को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए थे। इसमें राज्यों को जिला स्तर पर कोरोना के नियमों को सख्ती से लागू करने के आदेश जारी किए गए थे। साथ ही कोरोना नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए गए हैं। इसमें लोगों को मास्घ्क लगाने, लोगों को टीकाकरण के प्रेरित करना, नाइट कर्फ्यू लगाना जैसे कदम शामिल हैं।

10 राज्यों में तैनात केंद्रीय टीम। ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने देश के 10 राज्यों में केंद्रीय टीमों की तैनाती की है। इसमें केरल, बिहार, महाराष्ट्र, बंगाल, पंजाब, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड, मिजोरम और कर्नाटक राज्य शामिल है। यह टीमें राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मिलकर काम करेंगी। साथ ही यह केंद्रीय टीमें कोरोना की स्थिती का जायजा लेकर केंद्र सरकार को इसकी रिपोर्ट भी सौंपेगी। इसके साथ ही यह टीमें राज्य में अधिक से अधिक लोगों तक कोरोना की वैक्सीन पंहुचाने का प्रयास भी करेंगे।

देश में लगातार बढ़ रहे ओमिक्रॉन के मामले
आपको बता दें कि देश में ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसे देखते हुए कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ओमिक्रोन से बचाव के लिए पर नाईट कर्फ्यू भी लगाया गया है। अभी तक देश में वैरिएंट आफ कंसर्न ओमिक्रोन के 500 मामले सामने आए हैं। इसमें सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं। इसके बाद दूसरा नंबर देश की राजधानी दिल्ली का है और तीसरे नंबर केरल का है।

10 जनवरी से शुरू होगा बूस्टर डोज
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने शानिवार शाम यानि 25 दिसंबर को बड़ों के बाद अब 15 से 18 साल तक के बच्चों को भी 3 जनवरी से वैक्सीनेशन देने का एलान किया था। साथ ही 10 जनवरी से ओमिक्रोन से बचाव के लिए पहले गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों और स्वास्थकर्मियों को बूस्टर डोज देने की शुरुआत भी की जाएगी। इससे देश में लोगों को कोरोना से लड़ने में मदद भी मिलेगी।

Related Articles

Close