उत्तराखंडपुलिस डायरी

उत्तराखण्ड में आतंकी मॉड्यूल तैयार होने से पहले ध्वस्त रूद्रपुर में छिपा था आतंकी सुख

एसडीएम ने उधमसिंह नगर से शरण देने वाले 4 किए गिरफ्तार, डीपीजी ने एसटीएफ टीम को दिया एक लाख का ईनाम

देहरादून। उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को बड़ी कामयाबी मिली है। उत्तराखंड एसटीएफ की कुमाऊं टीम ने पंजाब के पठानकोट, नवांशहर और लुधियाना में ब्लास्ट की साचिश रचने वाले आतंकवादी सुखप्रीत उर्फ सुख को शरण देने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है। चारों आरोपियों को उधम सिंह नगर जिले के पंतनगर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। उत्तराखण्ड एसटीएफ ने उत्तराखण्ड में आतंकी मॉड्यूल तैयार होने से पहले ही ध्वस्त कर दिया है। आरोपियों को गिरफ्तार करने पर डीजीपी ने एसटीएफ टीम को एक लाख का ईनाम देने की घोषणा की है।
उत्तराखंड एसटीएफ ने बताया कि, पिछले साल नवंबर 2021 में पंजाब के पठानकोट, नवांशहर और लुधियाना में बम ब्लास्ट की घटनाएं हुई थीं। इस मामले में पंजाब पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। एक आरोपी सुखप्रीत उर्फ सुख फरार था। सुख ने उत्तराखंड में शरण ले रखी थी, जिसकी जानकारी उत्तराखंड एसटीएफ को लगी।
उत्तराखंड एसटीएफ ने आरोपी को पकड़ने के लिए अपना जाल बिछाया और जानकारी को पुख्ता करने के लिए अपने मुखबिरों को एक्टिव किया। पिछले तीन दिनों से उत्तराखंड एसटीएफ इस केस पर काम कर रही थी। उत्तराखंड एसटीएफ ने आरोपी के बारे में पूरी जानकारी जुटाने के साथ ही इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली। इसी के बाद पुलिस ने शमशेर सिंह उर्फ शेरा उर्फ साबी, उसके भाई हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी, अजमेर सिंह उर्फ लाडी मंड और गुरपाल सिंह उर्फ गुर्री ढिल्लों को गिरफ्तार किया।शमशेर सिंह के पास से उत्तराखंड एसटीएफ को 32 बोर की एक पिस्टल बरामद हुई है। इसके अलावा पुलिस ने आरोपियों के पास से फोर्ड फिगो कार भी बरामद की है। आरोपी इसी कार से पंजाब में आतंकी बम ब्लास्ट के आरोपी सुखप्रीत उर्फ सुख को अपने घर में लाए थे।

आतंकवादी संगठन खालिस्तान टाइगर फोर्स का नाम भी आया सामने
उत्तराखंड एसटीएफ के मुताबिक, फरार आतंकी सुखप्रीत उर्फ सुख और गिरफ्तार किए गए चारों आरोपी कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और सर्बिया में अपने साथियों के साथ व्हाट्सअप कॉल के जरिए जुड़े थे। ये सभी लोग कनाडा निवासी अर्श जो खालिस्तान टाइगर फोर्स नाम के आतंकवादी गैंग से जुड़ा है, उसके संपर्क में थे। पांचों अर्श के साथ वाट्सए कॉलिंग के जरिए बात करते थे। अर्श ही इन्हें कमांड देता था। फरार आरोपी सुखप्रीत उर्फ सुख ने भी इंटरनेशनल कॉल किए थे।
पकड़े गये चारों आरोपियों के खिलाफ आतंकी सुखप्रीत उर्फ सुख को अपने घर में शरण देने, मदद करने और साजिश के तहत सुरक्षित भेजने की व्यवस्था कराने का मामला दर्ज किया गया है। चारों आरोपियों के खिलाफ उधम सिंह नगर जिले के पंतनगर थाने में मामला दर्ज कराया गया है। आरोपियों से मिली सभी जानकारी केंद्रीय सुरक्षा एंजेसियों और अन्य राज्यों की पुलिस के साझा की जा रही है।

गिरफ्तार आरोपियों का विवरण-

1 शमशेर सिंह उर्फ शेरा उर्फ साबी पुत्र गुरनाम सिंह निवासी नियर शिव मंदिर ग्राम रामनगर थाना केलाखोड़ा जनपद उधम सिंह नगर। हाल पता ग्राम कालेके थाना खलचिया जिला अमृतसर देहाती पंजाब। उम्र-26 वर्ष।

2 हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी पुत्र गुरनाम सिंह निवासी नियर शिव मंदिर ग्राम रामनगर थाना केलाखोड़ा जनपद उधम सिंह नगर। उम्र-24 वर्ष।

3 गुरपाल सिंह उर्फ गुरी ढिल्लो पुत्र गुरदीप सिंह निवासी गोलू टांडा आर्सल पार्सल थाना स्वार जिला रामपुर उप्र। हाल पता संधू ढाबा बाजपुर। उम्र-24 वर्ष।

4 अजमेर सिंह मंड उर्फ लाडी पुत्र स्व0 गुरवेल सिंह निवासी ग्राम बैतखेड़ी थाना बाजपुर जनपद उधम सिंह नगर। उम्र-30 वर्ष।

Related Articles

Close