उत्तराखंडजनहित

यूक्रेन में फंसे हैं रुद्रप्रयाग जिले के 4 छात्र, परिजन परेशान

अगस्त्यमुनि एवं ऊखीमठ ब्लॉक के छात्रों के फंसे होने की मिली सूचना,
ये सभी कर रहे हैं यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई
रुद्रप्रयाग। रुस एवं यूक्रेन के बीच युद्ध बढ़ गया है। दोनों ही देश एक दूसरे की सैन्य शक्ति को भारी नुकसान करने का दावा कर रहे हैं। इस सबके बीच वहां रह रहे भारतीयों की स्वदेश वापसी की कोशिशें भी चल रही हैं, लेकिन हवाई सेवा बन्द होने से उनकी वापसी में देर हो रही है। उत्तराखण्ड के भी कई छात्र-छात्रायें वहां फंसे हुए हैं। अधिकांश छात्र-छात्रायें वहां मेडिकल की पढ़ाई के लिए गये हैं।
रुद्रप्रयाग जनपद के अगस्त्यमुनि ब्लॉक के एक छात्र एवं एक छात्रा तथा ऊखीमठ ब्लॉक के भी एक छात्र एवं एक छात्रा के यूक्रेन में फंसे होने की जानकारी मिल रही है। ये सभी वहां मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। अगस्त्यमुनि सीएचसी में तैनात फॉर्मासिस्ट डीएल मिंगवाल के पुत्र अंकित चन्द्रा एवं फलई गांव के पूर्व प्रधान विजय भट्ट की पुत्री अवंतिका भट्ट यूक्रेन की राजधानी कीव में पढ़ाई कर रहे हैं। जब से वहां के हालात बेकाबू हुए हैं, छात्रों के परिजनों की रातों की नींद एवं दिन का चैन उड़ गया है। वे हर दिन वहां के हालातों पर नजर रखे हुए हैं। अभिभावकों ने यूक्रेन के कालेज प्रशासन पर हालातों की गम्भीरता को समझने में गलती करने का आरोप भी लगाया। अभिभावकों ने बताया कि वे अपने पाल्यों को 15 दिन पूर्व ही वापस बुला रहे थे। उन्होंने कालेज से ऑनलाइन पढ़ाई कराने का अनुरोध भी किया था, लेकिन कालेज प्रशासन नहीं माना और स्थिति सामान्य होने की बात करता रहा। अंकित की माता पूर्व जिपंस सुलोचना देवी ने बताया कि रात के समय अंकित से बात होने पर उसने बताया कि वहां के हालात और कठिन होते जा रहे हैं। रात दिन धमाकों की आवाज से शहर थर्रा रहा है और दिनभर सायरन बजता रहता है। एटीएम तथा जनरल स्टोरों में भारी भीड़ लग रही है। उन्हें अपने हॉस्टल में रहने को कहा गया है तथा सायरन बजते ही बेसमेंट में जाने को कहा गया है। जहां नेटवर्क की भी समस्या हो रही है। बच्चों की सुरक्षा के लिए वे हर दम ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही हाल अवंतिका की मां का भी है। अवंतिका के पिता विजय भट्ट एवं माता सीएचसी अगस्त्यमुनि में हेल्थ कॉर्डिनेटर रचना भट्ट ने बताया कि शुक्रवार सुबह उससे बात हुई थी। सभी छात्रों में घबराहट है तथा वे अपनी सुरक्षा को लेकर परेशान हैं। वहां पर सभी छात्र छात्रायें फिलहाल एक साथ रह रहे हैं। अंकित के पिता डीएम मंगलवाल ने कहा कि छात्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार यूक्रेन में अभी मेट्रो चल रही है, जिसके द्वारा छात्रों को नजदीकी पश्चिमी देशों पोलेण्ड, हंगरी आदि में भिजवाया जा सकता है। जहां से सभी छात्र हवाई सेवा द्वारा स्वदेश वापसी कर सकते हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार से यथाशीघ्र छात्रों की घर वापसी के लिए उचित कदम उठाने की मांग की है। वहीं पुलिस प्रशासन ने हेल्पलाइन नम्बर जारी कर वहां रह रहे छात्रों की पूरी जानकारी उपलब्ध कराने को कहा है। पुलिस प्रशासन ने बताया कि यदि किसी का कोई परिजन वर्तमान में यूक्रेन में किसी भी कार्य के लिए गया हुआ है, तो संबंधित व्यक्ति के संबंध में पूरी जानकारी डायल 112 अथवा पुलिस कन्ट्रोल कक्ष रूद्रप्रयाग के नम्बर 7579257572 पर उपलब्ध करायें। वहीं जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि जिले के चार छात्रों के यूक्रेन में होने की सूचना मिली है, लेकिन परिजनों की ओर से अभी तक प्रशासन को कोई भी जानकारी नहीं दी गई है। बावजूद इसके जानकारी पुख्ता करते हुए कार्यवाही के लिए भारत सरकार से पत्राचार किया जायेगा।

Related Articles

Close