उत्तराखंडराजनीति

विभिन्न एजेन्सियों के एग्जिट पोलः उत्तराखंड में कुर्सी के लिए कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर

देहरादून। उत्तराखंड में  चुनाव परिणाम आगामी 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे। सोमवार को उत्तराखंड समेत देश के पांच राज्यों के मतदान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद  विभिन्न टीवी चौनलों और एजेंसियों ने एग्जिट पोल के अनुमान जारी किए। टाइम्स नाउ, जन की बात, सी-वोटर और न्यूज 24-टुडे चाणक्या ने अपने सर्वेक्षण में अलग-अलग अनुमान जारी किए। दो एजेंसियों ने जहां भाजपा को प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरता दिखाया है, वहीं दो सर्वे एजेंसियों ने कांग्रेस के पक्ष में चुनाव परिणाम का अनुमान लगाया है। सत्ता की चाबी किसके हाथ में आएगी यह तो 10 मार्च को जनगणना के बाद ही पता चलेगा। किन्तु सोमवार को आए एग्जिट पोल ने राजनीतिक गलियारों में हलचल पैदा कर दी है। जिसके बाद राजनीतिक विश्लेषक भी गुणाभाग में जुट गए है।
एग्जिट पोल को मात्र एक अनुमान कहा जाए तो यह गलत नही होगा। क्योंकि राजनीतिक दलों के भाग्य का फैसला मतगणना के बाद जनादेश की तय करता है। जनादेश जिसके पक्ष में होगा सत्ता उसी के हाथों में आएगी। किन्तु एग्जिट पोल के अनुमान राजनीति में एक हलचल पैदा कर देते है। सोमवार को जारी किए गए एग्जिट पोल में न्यूज 24-टुडे चाणक्या के सर्वेक्षण को छोड़कर बाकी तीनों एजेंसियों ने उत्तराखंड में पहली बार चुनाव मैदान में उतरी आम आदमी पार्टी के बारे में अनुमान लगाया है कि यह पार्टी अपना खाता खोल सकती है। सर्वे एजेंसियों ने अनुमान लगाया है कि पुष्कर सिंह धामी एक बार फिर उत्तराखंड में भगवा पार्टी को सत्ता की कुर्सी तक पहुंचा सकते हैं। वहीं विपक्षी कांग्रेस पार्टी का सपना टूटता नजर आ रहा है, क्योंकि एग्जिट पोल्स में यह पार्टी दूसरे स्थान पर सिमटती नजर आ रही है। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव को लेकर आधा दर्जन से ज्यादा एजेंसियों ने अपने सर्वेक्षण अनुमान जारी किए हैं। टाइम्स नाउ अपने अनुमान में भारतीय जनता पार्टी को सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरता दिखाया है। चैनल के अनुसार बीजेपी को जहां उत्तराखंड में सबसे ज्यादा 37 सीटें मिलने का अनुमान है.।वहीं कांग्रेस पार्टी 31 और आम आदमी पार्टी सिर्फ 1 सीट पर जीतती नजर आ रही है। सी वोटर के सर्वेक्षण की मानें तो कांग्रेस पार्टी को चुनाव में सबसे ज्यादा सीटों पर जीत मिल सकती है। एजेंसी ने कांग्रेस के पक्ष में जहां 32 से 38 सीटें जाती दिखाई हैं, वहीं भारतीय जनता पार्टी को 26 से 32 सीट मिलने का अनुमान लगाया है। इस एजेंसी ने आम आदमी पार्टी के हिस्से में 2 और अन्य के पक्ष में 3 से 7 सीटें दी हैं। पर राजनीति का ऊंट किस करवट बैठेगा उसके लिए मतगणना तक इंतजार करना पड़ेगा।

Related Articles

Close