उत्तराखंड

उत्तराखण्ड में अगले 5 दिन बारिश का है अलर्ट, चॉपर तैनात

देहरादून। उत्तराखंड में साल 2013 की आपदा के बाद जून और जुलाई महीना सबसे बदनाम हो गया है। एक बार फिर से जून महीना जाते जाते लोगों को डरा रहा रहा है। मौसम विभाग ने अगले 5 दिनों तक उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने साफ कहा है कि उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में या मैदानी इलाके आने वालों को तेज बारिश परेशान कर सकती है। ऐसे में उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी सावधानी बरतनी होगी।
उत्तराखंड में 29 जून को मॉनसून दस्तक दे रहा है। ऐसे में मॉनसून से पहले भी मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी दी है। उत्तराखंड के पहाड़ों के हिसाब से अत्यधिक बारिश ना केवल पहाड़ों में भूस्खलन को बढ़ावा देती है, बल्कि पर्यटकों का रास्ता भी रोकती है। ऐसे में मौसम वैज्ञानिक और राज्य सरकार लोगों से अपील कर रहे हैं कि ऐसे क्षेत्रों में ना जाएं, जहां पर पहाड़ गिरने का खतरा हो।
उत्तराखंड में चारधाम यात्रा अपने पूरे चरम पर है। ऐसे में अगर भारी बारिश होती है, तो चारधाम यात्रियों को हर साल की तरह रोका भी जाएगा। मौसम विभाग ने कहा है कि अगर तेज बारिश होगी तो स्वभाविक है कि नदियों का जल स्तर भी बढ़ेगा। ऐसे में नदी किनारे रहने वाले लोगों को भी अभी से वहां से हटने की जरूरत है। प्रदेश में उत्तराखंड में शनिवार देर रात से कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है, जिसमें चमोली और रुद्रप्रयाग के ऊपरी हिस्सों के साथ-साथ कुमाऊं के कई हिस्से शामिल हैं।
मौसम विभाग की मानें तो उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से मौसम में अचानक परिवर्तन आया है. बीते लंबे समय से अत्यधिक हो रही गर्मी भी अधिक बारिश का संकेत मानी जाती है। ऐसे में उम्मीद यही जताई जा रही है कि इस बार का मॉनसून अधिक रहने वाला है। मॉनसून को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। राज्य सरकार ने गढ़वाल और कुमाऊं में एक-एक चॉपर को तैनात किया है, ताकि इमरजेंसी के वक्त लोगों को राहत दी जा सके। इसके साथ ही एसडीआरएफ के जवानों की टुकड़ी भी रुद्रप्रयाग, चमोली, अल्मोड़ा, बागेश्वर, टिहरी और पौड़ी के लिए भेजी गई हैं।

Related Articles

Close