उत्तराखंडशिक्षा

सहायक निदेशक डॉ चंडी प्रसाद घिल्डियाल ने किया विद्यालयों का औचक निरीक्षण

ऑफिसर के सख्त तेवरों से शिक्षकों और कर्मचारियों में हड़कंप

देहरादून। सहायक निदेशक डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल ने पदभार संभालने के बाद पहली बार जनपद के विद्यालयों का निरीक्षण किया, यह सूचना मिलते ही जनपद के विद्यालयों में शिक्षकों और कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति रही।
अपने सख्त अनुशासन के लिए प्रसिद्ध डॉक्टर घिल्डियाल सुबह-सुबह प्रीतम रोड पर स्थित शिव नाथ संस्कृत महाविद्यालय में पहुंचे उन्होंने छात्र उपस्थिति पंजिका, शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारी उपस्थिति पंजिका सहित विद्यालय के अन्य अभिलेखों का बारीकी से निरीक्षण किया।
प्रधानाचार्य कक्ष में उपस्थित शिक्षक शिक्षिकाओं एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की बैठक में डॉ चंडी प्रसाद घिल्डियाल ने सख्त लहजे में कहा कि जिन बच्चों की वजह से हमको वेतन मिल रहा है उनके प्रति किसी प्रकार की लापरवाही को वह गंभीरता से लेंगे उन्होंने छात्र नामांकन संख्या बढ़ाने के लिए सख्त निर्देश दिए उपस्थित छात्रों की कम संख्या पर प्रधानाचार्य का मौखिक जवाब तलब किया
प्रधानाचार्य ने स्थिति स्पष्ट करते हुए बताया कि अभी छात्रावास के बच्चे नहीं पहुंचे हैं इस पर संख्या कम है। अतिशीघ्र इस सप्ताह बच्चे आ जाएंगे इस पर सहायक निदेशक ने उन्हें विद्यालय में पठन-पाठन को तत्काल सुचारू रूप से शुरू करने स्वच्छता बनाए रखने एवं छात्र छात्राओं के नाखून ,बाल साफ-सफाई को निरंतर निरीक्षण करने का निर्देश दिया उन्होंने यह भी कहा कि सभी अध्यापक माध्यमिक शिक्षा की तरह दैनंदिनी का प्रयोग करेंगे।
उन्होंने प्रधानाचार्य को निर्देशित किया सुबह ठीक 8:00 बजे उनके व्हाट्सएप पर छात्र एवं शिक्षकों और कर्मचारियों की उपस्थिति निरंतर भेजेंगे।
विदित है कि डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल को हाल ही में राज्य सरकार ने शैक्षिक संवर्ग से सेवा स्थानांतरण द्वारा प्रशासनिक संवर्ग प्रदान किया है। उनकी कार्यकुशलता को देखते हुए उन्हें रुद्रप्रयाग और चमोली जनपद की विशेष अतिरिक्त जिम्मेदारी भी दी गई है।

Related Articles

Close