उत्तराखंडपुलिस डायरी

4600 ग्रेड-पे को लेकर पुलिसकर्मियों के परिजनों ने फिर खोला मोर्चा , सरकार को दी एक हफ्ते की मोहलत

देहरादून। पुलिसकर्मियों के 4600 ग्रेड पे का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब पुलिसकर्मियों के परिजनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आज पुलिसकर्मियों के परिजनों ने सरकार को साफ तौर पर चेतावनी देते हुए कहा कि यदि पुलिसकर्मियों का ग्रेड पे 4600 रुपए नहीं किया जाता है और उसका शासनादेश जारी नहीं करती है तो ऐसे में उन्हें एक हफ्ते बाद उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो वो हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे। इतना ही नहीं दिल्ली के जंतर मंतर पर जाकर अनिश्चितकालीन आंदोलन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे।
पुलिसकर्मियों के परिजनों का कहना है कि राज्य सरकार पुलिसकर्मियों के प्रति संवेदनहीन हो गई है। सरकार अपनी घोषणाओं को पूरा करने से पीछे हट रही है। उन्होंने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि घोषणा के बावजूद अभी तक पुलिस कर्मियों का ग्रेड पे 4600 रुपए नहीं किया गया है। जिससे पुलिसकर्मियों के परिजनों में भारी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि बगैर पुलिसकर्मियों की सुरक्षा के प्रदेश के कोई मंत्री घर से बाहर नहीं निकल सकते हैं, पुलिसकर्मी लगातार अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते आ रहे हैं, लेकिन सरकार ग्रेड-पे न बढ़ाकर उनका उत्पीड़न कर रही है।
गौर हो कि पूर्व में उत्तराखंड सरकार ने पुलिसकर्मियों के लिए 4600 ग्रेड पे की घोषणा की थी। यह भी आश्वस्त किया था कि जल्द ही इसका शासनादेश जारी कर दिया जाएगा, लेकिन अभी तक पुलिसकर्मियों का ग्रेड पे नहीं बढ़ाया गया है और ना ही इसका जीओ जारी किया गया है। इतना ही नहीं उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के दौरान भी यह मुद्दा उठाया गया।
इतना ही नहीं पुलिसकर्मियों के परिजनों ने चुनाव बहिष्कार की चेतावनी भी दी, लेकिन मामले पर कार्रवाई आगे नहीं बढ़ी। अब सरकार के इस रवैये को देखते हुए पुलिसकर्मियों के परिजनों में खासी नाराजगी देखने को मिल रही है। उन्होंने सरकार के खिलाफ पूरी तरह से मोर्चा खोल दिया और एक हफ्ते बाद बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है।

Related Articles

Close