लखनऊ

उत्तर प्रदेश के 10 और उत्तराखंड के 3 लोगों को मिला पद्म सम्मान

भारत के 71वें गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले देश के महत्वपूर्ण नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई. इसके तहत 4 हस्तियों को पद्म विभूषण, 14 हस्तियों को पद्म भूषण और 94 हस्तियों को पद्मश्री पुरस्कार देने की घोषणा हुई. इस  बार पद्म पुरस्कारों की लिस्ट में उत्तर प्रदेश से दस और उत्तराखंड से तीन लोग शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश से इस वर्ष के पद्म पुरस्कार विजेता
पद्मश्री पुरस्कार से नवाजी गई उत्तर प्रदेश की 10 हस्तियों में मशहूर शास्त्रीय गायक पंडित छन्नूलाल मिश्रा को पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है. उनके अलावा उत्तर प्रदेश की 9 हस्तियों को पद्म श्री से सम्मानित किया गया है. पद्मश्री पाने वालों में केजीएमयू के प्रफेसर शादाब मोहम्मद शामिल हैं, जिन्होंने गरीबों के लिए जबड़े की सस्ती सर्जरी की तकनीक ईजाद की है.

वहीं लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रफेसर बृजेश कुमार शुक्ला संस्कृत को आम जन तक पहुंचाने में जुटे हैं. बाराबंकी के रामशरण वर्मा प्रगतिशील किसान हैं. जिन्होंने कम लागत में ज्यादा उत्पादन और मुनाफे का फॉर्म्युला किसानों को दिया. मथुरा के बरसाना निवासी रमेश बाबा जी महाराज को गोसवा के लिए देश भर में जाना जाता है. बुलंदशहर के किसान भारत भूषण त्यागी ने जैविक खेती से पहचान बनाई है.

भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को अपने जलतरंग के जादू से मोहित करने वाले संगीत के पुरोधा पंडित राजेश्वर आचार्य शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में बनारस घराने से ताल्लुक रखते हैं. बिरहा गायन की परंपरा को आगे बढ़ाने वाले हीरा लाल यादव को मरणोपरांत पद्मश्री से सम्मानित किया गया है.

वाराणसी में लकड़ी के खिलौने की कला हो या बनारसी साड़ी के हुनरमंद हाथों को दुनिया में सम्मान दिलाने में दिल-दिमाग से जुटे जीआई विशेषज्ञ डॉक्टर रजनीकांत को भी पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया है. वाराणसी की बेटी प्रशांति सिंह भी पद‌्मश्री सम्मान से नवाजी गई हैं. देश के बास्केटबॉल टीम की कप्तानी कर चुकी प्रशांति सिंह को वर्ष 2017 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा सुका है.

उत्तराखंड से इस वर्ष के पद्म पुरस्कार विजेता
वहीं उत्तराखंड से अनिल प्रकाश जोशी को समाज सेवा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. उनके अलावा कल्याण सिंह रावत को भी समाज सेवा के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया गया है. उत्तराखंड से इस वर्ष के तीसरे पद्म पुरस्कार विजेता हैं डॉक्टर योगी एरोन. योगी एरोन को चिकित्सा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया है.

Related Articles

Close