एनसीआर

पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने हरिद्वार के बाद टिहरी के केंद्रीय औषधि भंडारण घर पर मारा छापा, लाखों रुपए का घोटाला आया सामने

अधिकारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर की जाएगी कार्रवाई -रेखा आर्य

ऋषिकेश, 25 जून। ( AKA) उत्तराखंड पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने हरिद्वार के बाद मुनी की रेती ऋषिकेश स्थित पशुपालन विभाग के राजकीय चिकित्सालय मुनी की रेती की रेती स्थित टिहरी गढ़वाल गोदाम (केंद्रीय औषधि भंडारण गृह )पर छापेमारी कर बड़ी मात्रा में घोटाले का पर्दाफाश किया है। जिसके बाद अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मच गया।
गुरुवार को मुनिकीरेती स्थित पशुपालन विभाग के टिहरी गढ़वाल के केंद्रीय औषधि भंडारण गृह में उस समय हड़कंप मच गया, जब उत्तराखंड सरकार की कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने औचक निरीक्षण कर छापेमारी की, छापेमारी के बाद रेखा आर्य ने बताया कि गोदाम में लाखों रुपए की ऐसी दवाइयां रखी है जो कि एक्सपायर हो चुकी है, तथा कुछ लाखों रुपए के बिल ऐसे भी पाए गए हैं ,जो कि आर्डर के बाद दवाइयां आई ही नहीं ।और उनका भुगतान फर्म को कर दिया गया है ।इसकी जांच की जा रही है, उन्होंने बताया कि स्टॉक रजिस्टर में 2019 के दौरान दिए गए ,आर्डर को 2020 में दर्ज किया गया है। और 2020के आर्डर 2019 में दर्ज किया गया है। जिसे देखने से पता चला ,कि इस मामले में भी बड़े स्तर पर घोटाला किया गया है ।यह घोटाला विभागीय उच्च अधिकारियों के इशारे पर किया जाना बताया गया है ।जिसकी जांच की जा रही है ।उन्होंने कहा कि जांच के बाद घोटाले में संलिप्त सभी बड़े से बड़े अधिकारी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी ।यह सरकारी पैसे का दुरुपयोग किया गया है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।कैबिनेट मंत्री देखा आर्य ने कहा कि यह बड़े स्तर पर की गई ,वित्तीय अनियमितता है। उन्होंने कहा कि दवाई खरीदने मे अधिकारियों ने अपनी कमाई ही देखी है। सरकार का फायदा नहीं देखा है ।उनका कहना था की यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण लापरवाही है ।जिसकी गंभीरतापूर्वक जांच की जाएगी। उनका कहना था ,कि छापेमारी पशुपालकों की शिकायत पर की गई है ।उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी पशुपालक का दवाई खरीदने मे उत्पीड़न नहीं होने देगी। जिसे उनके विभाग द्वारा गंभीरता पूर्वक लिया गया है। रेखा आर्य का कहना था कि इससे पहले उनके द्वारा हरिद्वार बहादराबाद में भी छापेमारी की गई है। वहां भी बड़ी मात्रा में दवाई खरीद मे घोटाले सामने आए हैं ।उन्होंने कहा कि घोटालों का पर्दाफाश होने पर वह अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करेंंगी। छापेमारी के दौरान निजी सचिव लाल सिंह नागर कोटी, सहित अन्य अधिकारी भी मौके पर मौजूद थे ।

Close