उत्तराखंड

आईटीवीपी के एसआई प्यार सिंह राणा शहीद

गुरुवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार देविधार में गंगा घाट पर किया जाएगा

उत्तरकाशी। जनपद के डुंडा ब्लॉक के खट्टूखाल के प्यार सिंह राणा अरुणाचल प्रदेश में शहीद हो गए हैं। राणा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल में एसआई के पद पर तैनात थे। आईटीबीपी के अधिकारियों ने ग्रामीणों को बताया कि प्यार सिंह राणा की मौत मंगलवार को हार्ट अटैक से हुई। एसआई प्यार सिंह राणा की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र में मातम पसरा हुआ है। देर रात को शहीद का पार्थिव शरीर घर पहंुचने के बाद गुरूवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।
एसआई प्यार सिंह राणा अपने पीछे पत्नी, तीन बेटियां और एक बेटा सहित हसंता खेलता परिवार छोड़ गए हैं। वहीं, शहीद के सम्मान में ग्रामीणों ने बैनर बनाकर गंगोत्री हाईवे पर लगा दिए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अपने गांव के जवान की शहादत का पूरे सम्मान के साथ याद किया जाएगा। अरुणाचल प्रदेश में तैनात आईटीबीपी के एसआई प्यार सिंह राणा एक सप्ताह बाद 40 दिन की छुट्टी आने वाले थे। इसके लिए उन्होंने अपने भाई सोहन सिंह राणा से क्वारंटाइन प्रक्रिया के बारे में भी पूछा था। ग्रामीणों ने बताया कि एसआई प्यार सिंह राणा पिछले दिसम्बर में अपनी तीन बेटियों में से दूसरी बेटी की शादी करवाकर ड्यूटी पर लौटे थे। ग्रामीणों ने बताया कि देर रात तक उनका पार्थिव शरीर गांव पहुंचने के उम्मीद है। गुरुवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार देविधार में गंगा घाट पर किया जाएगा। ग्रामीणों ने अपने गांव के एसआई की शहादत के सम्मान में देवीधार,धरासू और गांव के मुख्य गेट पर उनकी तस्वीर के साथ बैनर लगाए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें राणा की शहादत पर गर्व है।   आज का आदित्य परिवार जन शहीद प्यार सिंह राणा को शत-शत नमन करताा हैआपको यही बताते चलें कि प्यार सिंह राणा के भाई सोहन सिंह राणा  आज के आदित्य के समाचार संपादक दुर्गेश मिश्रा के साथ राजकीय इंटर कॉलेज  1982 में एक साथ क्लासमेट रहे हैं।

Related Articles

Close