उत्तराखंडशहर में खास

अमर उजाला ऋषिकेश ने तीन पत्रकारों को सेवा समाप्ति के दिए नोटिस

एक वरिष्ठ और दो युवा पत्रकार शामिल

ऋषिकेश,06 अगस्त। अमर उजाला ऋषिकेश ने अपने 3 पत्रकारों को नोटिस देकर 1 माह के अंदर अपनी ड्यूटी की व्यवस्था कहीं और करने को कहा है। तीन पत्रकारों में एक वरिष्ठ और दो युवा पत्रकार शामिल है। इस सूचना से मीडिया जगत के अन्य पत्रकारों में माहौल चर्चा में बना हुआ है।
विशेष सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार अमर उजाला ऋषिकेश कार्यालय में तीन पत्रकारों को सेवामुक्ति के लिए नोटिस थमाया गया है। बता दें कि बीती 13 जुलाई को अमर उजाला ने एक नोटिस तीन पत्रकारों को थमाया। नोटिस में इस बात का साफ जिक्र है कि एक माह का समय उन्हें दिया जा रहा है इस अवधि में वह अन्य जगह नौकरी की तलाश कर ले। दिलचस्प पहलू यह है कि तीनों पत्रकारों को इस बात की जानकारी तक नहीं है। अभी तक तीनों पत्रकारों को अंधेरे में रखा गया है।
आपको बता दें कि यह तीनों पत्रकार ने अभी तक विश्व स्तरीय खबरें अमर उजाला के लिए दी हैं। साथ ही अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना संक्रमण की परवाह न करते हुए बेहतरीन कवरेज अमर उजाला को दी है। लॉकडाउन अवधि में भी इन्होंने अपने आर्टिकल अमर उजाला में प्रकाशित किए हैं। इसके लिए उन्हें कोरोना योद्धा सम्मान भी कई संगठनों ने दिया है।
आपको जानकर हैरानी होगी यह तीनों पत्रकार अपनी तेजतर्रार रिपोर्टिंग के लिए ऋषिकेश नगर में ही नहीं बल्कि प्रदेश में भी जाने जाते हैं। इन्होंने कि कभी भी रूटीन की खबरों पर ध्यान ना दे कर एक्सक्लूसिव खबरों के लिए ही काम किया है। अमर उजाला के इस कदम से अन्य संस्थानों के पत्रकार भी भयभीत हैं। इससे पूर्व दैनिक जागरण के ऋषिकेश कार्यालय में फोटोग्राफर को हटा दिया है।
जहां एक और दिल्ली की केजरीवाल सरकार और उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने का काम कर रही है इसके विपरीत एक मीडिया संस्थान अपने पत्रकारों को हटाने में लगा हुआ है इसे साफ तौर से नजर आता है कि मीडिया संस्थान अपने कर्मचारियों के हितों का कितना ध्यान रखती है उन्हें अब उनके भरोसे छोड़ दिया गया है उसके बाद उन्हें अब अपने भविष्य का खतरा सता रहा है।

Related Articles

Close