धर्म-कर्म

सांस्कृतिक विरासत के उन्नयन हेतु संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने किया प्रतिभाग

उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, प्रयागराज की गवर्निंग बोर्ड बैठक

 

देहरादून। उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, प्रयागराज के गवर्निंग बोर्ड की विशेष बर्चुवल बैठक आज श्रीमती आनंदीबेन पटेल, माननीय राज्यपाल उ0प्र0 की अध्यक्षता में आहूत की गई। संस्कृति मन्त्रालय, भारत सरकार के अन्तर्गत देशभर के विभिन्न क्षेत्रों की लोक सांस्कृतिक विरासत के उन्नयन तथा संरक्षण एवं संवर्द्धन तथा इसके व्यापक प्रचार-प्रसार एवं आपसी समन्यव स्थापित करने के उद्देश्य से 07 जोनल सेन्टर स्थापित किये गये हैं। प्रत्येक जोनल सेण्टर के अन्तर्गत आने वाले प्रदेशों की लोक संस्कृति के संरक्षण एवं प्रचार-प्रसार हेतु कार्ययोजना संचालित की जाती है। इसी दृष्टि से उत्तराखण्ड को भी इस बैठक में प्रतिभाग करने का सुअवसर प्राप्त हुआ। वर्चुवल बैठक में उत्तराखण्ड के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने भी उत्तराखण्ड में होने वाली सांस्कृतिक गतिविधियों की जानकारी देते हुये बताया की उनके मंत्रालय द्वारा उत्तराखण्ड में भी संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिये विशेष कार्य योजनाएं तैयार की जा रही हैं। श्री सतपाल महाराज ने बताया कि माननीय राज्यपाल उ0प्र0 की अध्यक्षता में आहूत बैठक में देश के विभिन्न प्रान्तों की लोक सांस्कृतिक विरासत के उन्नयन एवं संरक्षण हेतु कार्य कर रहे 07 जोनल सेंटरों में एकरूपता लाने के बारे में विचार विमर्श किया गया, जिससे जोनल सेंटरों की कार्ययोजना के क्रियान्वयन से बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकें।
बर्चुवल बैठक में प्रतिभा करने वालों में उत्तराखण्ड की ओर से प्रदेश के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज, बिहार के संस्कृति मंत्री, भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय में संयुक्त सचिव एवं निदेशक, उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र के अलावा उत्तराखंड की संस्कृति निदेशक
सुश्री बीना भट्ट द्वारा भी प्रतिभाग किया गया।

Related Articles

Close