उत्तराखंड

जनता को खेती-बाड़ी के लिए प्रोत्साहित करें अधिकारी: सुबोध

कैबिनेट मंत्री ने कृषि एवं इससे संबंधित विभागों के संग की समीक्षा बैठक, योजनाओं की ली जानकारी

ऋषिकेश, 22 अगस्त। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने शनिवार को कृषि एवं इससे संबंधित विभागों के संग एक समीक्षा बैठक की। जिसमें उन्होंने जनता को खेती-बाड़ी के लिए प्रोत्साहित करने को विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने कृषि योजनाओं की जानकारी भी ली।
शनिवार को सचिवालय में आयोजित बैठक में उपस्थित अधिकारियों से कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने किसानों की आर्थिक मजबूती के लिए सुझाव मांगे। इस दौरान उन्होंने 3 वर्ष पूर्व जिला उद्यान एवं मुख्य उद्यान अधिकारी को गोद में दिए गांवों की जानकारी ली। इनमें उन्होंने अधिकारियों को कलस्टर बेस्ड कृषि पर अधिक फोकस करने के लिए कहा। साथ ही प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत ड्रिप सिंचाई को प्राथमिकता के संग लिए जाने के लिए निर्देशित किया। कहा कि गोद लिए गए गावों में क्लस्टर बेस्ड कृषि पर अधिक फोकस किया जाए। उन्होंने प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के अन्तर्गत ड्रिप सिंचाई को प्रायोरिटी के साथ लिए जाने के निर्देश दिए। कहा कि कृषि क्षेत्र में विकास के लिए परंपरागत खेती को बढ़ावा देने के संग इनोवेटिव होने की आवश्यकता है। प्रदेश में 90 प्रतिशत किसान आर्थिक रूप से निचली श्रेणी के हैं। कहा कि प्रदेश में एरोमैटिक और हर्बल की अत्यधिक संभावनाएं हैं। एरोमा के क्षेत्र में क्लस्टर बेस्ड योजनाएं लायी जाएं। इसके साथ ही गुलाब के उत्पादन के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में योजना तैयार की जाए। इस दौरान उन्होंने हर्बल रिसर्च एंड डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट को भी औषधीय पौधों के लिए विशेष योजनाएं तैयार करने के निर्देश दिए। बताया कि यह क्षेत्र रोजगार एवं आय का एक श्रोत बन सकता है। कृषि मंत्री ने सभी सभी विभागों के अधिकारियों को उत्पादों की मार्केटिंग के लिए एक मैकेनिज्म तैयार करने के निर्देश दिए।
उद्यान विभाग के अधिकारियों को फलों के ट्रेडिशनल प्लांट्स की प्लांटेशन छोड़ उच्च गुणवत्ता की प्लानिंग को शुरू करने के लिए कहा। कहा कि मुख्यमंत्री एकीकृत बागवानी विकास योजना आत्म निर्भर भारत के अन्तर्गत ऑपरेशन ग्रीन योजना कलैक्टिव फार्मिंग में अधिक ध्यान दिया जाए। लोगों को जानकारी उपलब्ध कराने हेतु योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जाए। साथ ही पर्वतीय क्षेत्रों में मशरूम की खेती को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने सोइल मैप और उसके अनुरूप फसलों की जानकारी का चार्ट सीडीओ को को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस मौके पर सचिव हरबंश चुग सम्बन्धित विभागों के उच्चाधिकारी, जनपदों से मुख्य विकास अधिकारी समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

Related Articles

Close