उत्तराखंड

सबसे वरिष्ठ मंत्री को हक है सीआर लिखने का : महाराज

देहरादून । अफसरों की सीआर लिखने के मुद्दे पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने तुरूप का पत्ता फेंका था, जिसे शासन ने यह कह कर किनारे कर दिया था कि एक आईएएस के पास कई मंत्रियों के विभाग होते हैं। ऐसे में वह किस मंत्री के सामने अपनी सीआर भेजेगा। अब सूत्र बताते हैं कि नियमावली में ऐसी स्थिति में सबसे वरिष्ठ मंत्री के अधिकारी की सीआर लिखने की बात कही गई है। हालांकि अब सतपाल महाराज ने दोबारा हर मंत्री को एक सचिव दिए जाने की बात उठाई है इसपर शासन ने उस पर सफाई भी दे दी है कि प्रदेश के पास इतने आईएएस अधिकारी नहीं है कि एक एक मंत्री को उसके सभी विभागों का एक अधिकारी दिया जा सके। अब इस मामले में सूत्र बताते हैं कि नियम यह है कि यदि एक अधिकारी कई मंत्रियों के विभाग देख रहा है तो उसकी सीआर लिखने का काम उनमें से सबसे वरिष्ठ मंत्री करेगा, और अंतत: वह फाइल मुख्यमंत्री के पास भेजी जाएगी। जो फाइनल कमेंट करेंगे। उन्होंने कहा है कि इस नियम को लागू करने में तो शासन के सामने कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। अब देखना यह है कि के इस तर्क का शासन के पास क्या जवाब होगा।

Related Articles

Close