उत्तराखंड

वनाधिकार कांग्रेस ने की प्रदेशवासियों को बिजली-पानी मुफ्त दिए जाने की मांग

ऋषिकेश 1 अक्टूबर। उत्तराखंड वनाधिकार कांग्रेस के आह्वान पर बिजली-पानी निशुल्क देने को लेकर जल संस्थान कार्यालय पर बिजली पानी के बिलों की होली जलायी गयी।
वनाधिकार कांग्रेस के प्रणेता किशोर उपाध्याय ने उत्तराखंड की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने हक़-हक़ूकक़ों और अधिकारों की प्राप्ति के लिए सजग हों और अपने बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिये उत्तराखंड राज्य आन्दोलन की तरह इस आन्दोलन को समर्थन दें। उपाध्याय ने कहा कि उत्तराखंडियों के साथ न्याय नहीं हुआ है, जिन मुद्दों को लेकर वनाधिकार कांग्रेस आज संघर्ष कर रही है, वे सब उत्तराखंडियों को देश आज़ाद होने के तुरन्त बाद मिल जानी चाहिये थीं।
उपाध्याय ने पुन: पुरज़ोर माँग की है की प्रदेश वासियों के पानी और बिजली के बिल तुरन्त सरकार वापिस ले और राज्य के निवासियों को भविष्य में निशुल्क बिजली- पानी दे। उपाध्याय ने कहा कि उत्तराखंडियों को Forest Dwellers (अरण्यजन) मानते हुये उनके पुश्तैनी वनाधिकार और हक़ हक़ूक़ बहाल किये जाए। उनको केंद्र सरकार की सेवाओं में आरक्षण दिया जाए। प्रतिमाह एक गैस सिलेंडर, बिजली और पानी निशुल्क दिया जाए। जड़ी-बूटियों पर स्थानीय समुदाय का अधिकार हो, शिक्षा व स्वास्थ्य सेवायें निशुल्क हों, एक यूनिट आवास बनाने के लिए लकड़ी, बजरी व पत्थर निशुल्क दिया जाए। जंगली जानवरों द्वारा जन हानि पर 25 लाख रुपए क्षतिपूर्ति व परिवार के एक सदस्य को पक्की सरकारी नौकरी दी जाए। फसल के नुक़सान पर प्रतिनाली रु 5000/- क्षतिपूर्ति दी जाए। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य जयेन्द्र रमोला ने कहा कि डब्बल इंजिन की सरकार को शीघ्र सभी मुद्दों पर संज्ञान लेना चाहिए और तुरन्त बिजली-पानी के बिलों को समाप्त कर नये बिलों में छूट देनी चाहिए। अन्यथा कांग्रेस का हर कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर सरकार की इन जनविरोधी नीतियों के विरूध्द आवाज़ उठाने का काम करेगा। मौके पर पूर्व काबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, प्रदेश महामंत्री राजपाल खरोला, AICC सदस्य जयेन्द्र रमोला, जयसिंह रावत, जयपाल जाटव, इन्द्रप्रकाश अग्रवाल, विजयपाल रावत, भगवती सेमवाल, दिनेश ब्यास, देवेन्द्र रावत, बरफ सिंह पोखरियाल, प्रेमलाल शर्मा, विजयपाल पंवार, मनोज गुसाँई, राजेन्द्र गैरोला, गौरव राणा, मुकेश मनोडी, विक्रांत भारद्वाज, गोकुल रमोला, राव शहीद अहमद, देवेंद्र बैलवाल, निर्मल रागड, संदीप कलूडा, आशा सिंह चौहान, पूरण चन्द रमोला, विजय बिष्ट, सतीश रावत, विनोद चौहान, प्रिंस सक्सेना, देव पोखरियाल, दिनेश सकलानी, पार्षद राकेश मिंया, अजय रमोला, गौरव कुमार राणा, मंगल सिंह रावत, बिजेन्द्र कुमार, कैलाश सेमवाल आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Close