पर्यटन

वीकेंड में पर्यटकों की अचानक वृद्धि से लड़खड़ाई यातायात व्यवस्था

पर्यटन गतिविधियां शुरु होने से बढ़ने लगी पर्यटकों की आमद, ट्रैफिक नियंत्रण करने में पुलिस को करनी पड़ रही खासी मशक्कत

ऋषिकेश, 04 अक्टूबर। योगनगरी और उससे सटे इलाकों में पर्यटन से जुड़े कारोबार अब धीरे-धीरे पटरी में आने लगे है। सरकार ने लाॅकडाउन में पर्यटन गतिविधियां बंद करने के बाद अब पूर्णतया खोल दी है। जिस कारण पर्यटकों के यहां आने का क्रम पुनः शुरु हो चुका है। रविवार को पर्यटकों की अचानक वृद्धि होने से कई बार सड़कों में यातायात व्यवस्था लड़खड़ा गई। इस दौरान ट्रैफिक नियंत्रण करने में दोनों जिलों की पुलिस को कई बार खासी मशक्कत करनी पड़ी।
रविवार को वीकेंड में पर्यटकों में अचानक वृद्धि होने से योगनगरी ऋषिकेश, मुनिकीरेती, तपोवन की सड़कों पर वाहनों का खासा दबाव बढ़ गया। इससे सड़कों की यातायात व्यवस्था बुरी तरह से चरमरा गई। कई जगहों त्रिवेणी त्रिवेणी घाट, देहरादून तिराहा, चंद्रभागा पुल, कैलाश गेट, शिवानंद मार्ग, तपोवन मार्ग में वाहनों का जाम नजर आया। जिसे खुलवाने में पुलिस को खासी मशक्कतें करनी पड़ी। इस दौरान पर्यटकों ने साहसिक खेलों रिवर राफ्टिंग, बंजी जंपिंग आदि का भरपूर लुत्फ लिया, साथ ही कैंपिंग की भी की। राफ्टिंग रोटेशन अध्यक्ष दिनेश भट्ट ने बताया कि प्रतिवर्ष यहां राफ्टिंग करने के लिए देश ही नहीं विदेशों से भी बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते थे। इनमें अधिकांश दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों से आते हैं। मगर बीते मार्च से लाॅकडाउन होने के कारण राफ्टिंग और कैंपिंग व्यवसाय को मानो ग्रहण लग गया था। अनलाक 4.0 में सरकार ने पर्यटन से संबंधित गतिविधियों को खोलने का निर्णय लिया। जिसके बाद बड़ी संख्या में बाहरी राज्यों से पर्यटकों के आने का सिलसिला शुरु हो गया है। उन्होंने बताया कि वीकेंड के इन तीन दिनों में ही करीब छह हजार से अधिक पर्यटक राफ्टिंग कर चुके हैं।

Related Articles

Close