स्वास्थ्य

देश में स्तन कैंसर के बढ़ते मामलों को लेकर डॉ प्रियंका गोयल ने जताई चिंता

ऋषिकेश 06 अक्टूबर। श्री राम नर्सिंग होम ऋषिकेश की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ प्रियंका गोयल ने स्त्रियों में स्तन कैंसर के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जाहिर की है।
डॉ प्रियंका गोयल ने बताया कि अक्टूबर के महीने को स्तन कैंसर जागरूकता माह के रूप में माना जाता है। स्तन कैंसर महिलाओं की एक बड़ी आबादी को प्रभावित कर रहा है। लेकिन इसका प्रारंभिक निदान कैंसर से प्रभावी ढंग से लड़ने में मदद कर सकता है। केवल स्तन कैंसर का शीघ्र पता लगाने की जरूरत है। उन्होंने लक्षणों के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि स्तन कैंसर के प्रारंभिक लक्षण स्तन में गांठ, स्तन में दर्द, स्तनों के पास के क्षेत्रों में सूजन, स्तन के दूध के अलावा निप्पल से डिस्चार्ज, निप्पल के आकार में परिवर्तन और बांह के नीचे सूजन आदि हो सकते हैं।
डॉ प्रियंका गोयल ने बताया कि भारत में स्तन कैंसर के बढ़ने के पीछे जानकारी की कमी भी एक बड़ी वजह है। खासकर, ग्रामीण इलाकों में महिलाओं में इसे लेकर जागरूकता नहीं है। महिलाएं खुद अपने स्तन की जांच कर यह देखें कि उनमें कहीं गांठ तो नहीं बन रही है या स्तन सख्त तो नहीं हो रहा है। साथ ही इस पर भी गौर करें कि निप्पल्स के आकार में बदलाव तो नहीं हो रहा है। बताया कि स्तन में दर्द होना और बांहों के नीचे गांठ होने पर भी स्तन कैंसर होने की संभावना हो सकती है। अगर ऐसा हो तो बिना देर किए डॉक्टर से परामर्श लें।इसके उपचार के विकल्प और रोकथाम के तरीकों से अवगत कराने का प्रयास जीवन को बचाने में मदद कर सकता है।

Related Articles

Close