शिक्षा

सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास ऋषिकेश में मनाई गई लौहपुरूष व महर्षि वाल्मीकि की जयंती

सरदार बल्लभ भाई पटेल का कहना था कायर न बने बहादुर बने प्रधानाचार्य -राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय

 

ऋषिकेश 30अक्टूबर ।आवास विकास स्थित-विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के विवेकानंद योगसभागर में महर्षि वाल्मीकि और लौह पुरुष (बल्लभ भाई पटेल) की जयंती पर सभी शिक्षकों ने उन्हें किया स्मरण

कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय व प्रवक्ता नरेन्द्र खुराना एवं राजेश बड़ोला ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर व महर्षि वाल्मीकि व बल्लभ भाई पटेल के चित्र पर पुष्पार्चन कर किया।
कार्यक्रम में शिक्षक राजेश शर्मा ने अपने विचार रखते हुए बताया कि महर्षि वाल्मीकि रामायण से राम नाम की कृपा बरसाने वाले का कहना था कि किसी भी मनुष्य की इच्छाशक्ति अगर उसके साथ हो तो वह कोई भी काम बड़े आसानी से कर सकता है। इच्छाशक्ति और दृढ़संकल्प मनुष्य को रंक से राजा बना देती है।
कार्यक्रम में वक्ता के रूप में शिक्षिका मीनाक्षी उनियाल ने कहा कि सरदार पटेल अन्याय नहीं सहन कर पाते थे। अन्याय का विरोध करने की शुरुआत उन्होंने स्कूली दिनों से ही कर दी थी। तो हमे भी अन्याय नही सहना चाहिए!

कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेंद्र प्रसाद पांडे ने सभी को वाल्मीकि जयन्ती व लौहपुरूष की जयंती की शुभकामनाएं देते हुआ कि बल्लभ भाई पटेल का कहना था कि “जब वक्त कठिन दौर से गुजर रहा होता है, तो कायर बहाना ढूंढते हैं जबकि बहादुर और साहसी व्यक्ति उसका रास्ता खोजते हैं,”तो हमे भी उनके आदर्श वाक्यो से प्रेरित होकर यह सीख लेनी चाहिए वर्तमान परिस्थिति जो कोराना कि है हमे भी उस परिस्थिति में अपने सभी गतिविधियों को भली भांति सावधानीपूर्वक कैसे करना है। यह देखना चाहिए।
कार्यक्रम में रीना गुप्ता, जितेंद्र यादव,सुनील बलूनी,
अनिल भंडारी, वीरेन्द्र कंसवाल ,कर्णपाल बिष्ट,
सतीश चौहान,
सचिदानन्द नोटियाल ,विनय सेमवाल एवं अन्य अध्यापक गण आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Close