स्वास्थ्य

कोरोना की जंग में जागरूकता दूत बनकर काम कर रहे बुजुर्ग को अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा ने किया सम्मानित

 

ऋषिकेश, 03नवंबर। गले में पोस्टर टांगकर वैश्विक महामारी कोरोना की जंग में जागरूकता दूत बन महामारी के खिलाफ मुहिम चला रहे बुजुर्ग समाज सेवी कमल सिंह राणा को अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा के अध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी ने सम्मानित किया।

देश में कोरोना की मारक क्षमता भले ही कम हो गई हो लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। 2 गज की दूरी मास्क है जरूरी कुछ यही संदेश मुनी की रेती क्षेत्र में रहने वाले विभीन्न सामाजिक संस्थाओं से जुड़े समाज सेवी कमल सिंह राणा गले में कोरोना से बचाव का संदेश टांगकर लोगों को दे रहे हैं।सुबह मार्निंग वॉक के साथ साथ वह जब भी बाजार में निकलते हैं उन्हें देख लापरवाही बरतने वाले तुरंत अपना मास्क लगा लिया करते हैं।पिछले 1 माह से जारी उनकी मुहिम को मुनी की रेती क्षेत्र के थानाध्यक्ष रामकुमार सकलानी ने सराहते हुए उनकी इस मुहिम को अपने क्षेत्र में पुलिसकर्मियों पर अप्लाई करने की बात कही थी। इन सबके बीच अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा के अध्यक्ष समाजसेवी डॉ राजे सिंह नेगी नेगी ने भी देहरादून रोड स्थित महासभा के कार्यालय में बुजुर्ग को सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ नेगी ने कहा कि देश में जहां हजारों लोगों की अकाल मृत्यु के बावजूद अभी भी लोग लापरवाही बरत रहे हैं।सरकार द्वारा जारी की गई गाईडलाईन का अनुपालन ना करने की वजह से वह ना सिर्फ अपनी बल्कि दूसरों की जान को भी जोखिम में डाल रहे हैं वहीं दूसरी ओर देवभूमि के मुनिकीरेती क्षेत्र में रहने वाले बुजुर्ग कमल सिंह राणा की मुहिम सबको प्रभावित करने का काम कर रही है। वैश्विक महामारी के खिलाफ जंग में वह भी सही मायने में कोरोना वारियर्स हैं जोकि अपनी मुहिम के चलते लोगों को कोरोना से लड़ने के प्रति सचेत और जागरूक कर रहे हैं।

Related Articles

Close