राष्ट्रीय

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तीर्थ नगरी के जम्मू के बारामुला में गोलीबारी के दौरान हुए शहिद के परिवार को बंधाया ढांडस

परिवार के एक सदस्य को राज्य सरकार नौकरी देगी -त्रिवेंद्र सिंह रावत

 

ऋषिकेश,20नवम्बर( AKA)। प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जम्मू कश्मीर बारामुला क्षेत्र में पाकिस्तान सीमा पर तैनात तीर्थ नगरी ऋषिकेश के लाल बीएसएफ में तैनात सब इस्पेक्टर राकेश डोभाल के विगत 13 नवंबर को शहीद होने पर उनके घर पहुंच कर उनके परिजनों को ढांडस बंधाया। वही मुख्यमंत्री ने प्रदेश के एक सदस्य को राज्य सरकार की ओर से नौकरी दिए जाने का आश्वासन भी दिया ।उल्लेखनीय है कि बीएसएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात राकेश डोभाल की वर्तमान में जम्मू कश्मीर के बारामुला में तैनाती थी। जहां पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ के दौरान मुकाबला करते हुए सब इंस्पेक्टर राकेश डोभाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे। जिनकी बाद में मृत्यु हो गई थी । जिन्होंने वर्ष 2004 में सेना की नौकरी को चुना था। जो ऋषिकेश की गली नंबर चार गणेश विहार गंगानगर में रह रहे थे राकेश डोभाल के पिता कमल कांत डोभाल ऋषिकेश राजकीय महाविद्यालय कार्यालय में तैनात थे। उनके ड्यूटी के दौरान निधन के पश्चात उनकी धर्मपत्नी विमला देवी डोभाल राजकीय महाविद्यालय में कार्यरत है। जिनके परिवार में राकेश तीन भाइयों में दूसरे नंबर के थे। बड़े भाई दीपक डोभाल ग्राफिक एरा देहरादून में टीचर है। छोटा भाई उमेश डोभाल दिल्ली होटल में कार्यरत है। राकेश डोभाल की पत्नी संतोषी ग्रहणी है और उनकी एक 10 वर्षीय पुत्री मौली है। जिनका विवाह लगभग 10 वर्ष पूर्व संतोषी से हुआ था। जिनकी एक पुत्री दिव्या भी है। राकेश की शहादत के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनके घर पहुंच पहुंच कर पूरे परिवार को सांत्वना देते हुए ढांडस बंधाया । इसी के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता डॉक्टर सुरेश चंद शर्मा के निधन के उपरांत उनके घर पहुंचे और उनके सांत्वना दी, के बाद मुख्यमंत्री ने भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद मनोहर कांत ध्यानी के घर पहुंच कर उनका हालचाल जाना।

Related Articles

Close